मोदी-ट्रंप मुलाकात के बाद साझा बयान में आतंकवाद को कुचलने का संकल्प

नई दिल्ली:  अमेरिका के व्हाइट हाउस में दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र और सबसे पुराने लोकतंत्र के दो नेताओं के बीच की मुलाकात ऐतिहासिक थी। केवल इन दो देशों के लोगों की नजर नहीं थी इस मुलाकात पर बल्कि पूरी दुनिया मोदी और ट्रंप को एक दूसरे को गले लगाते हुए देख रही थी। दोनों नेताओं का इस करीबी ने दुनिया को ये संदेश भी दे दिया कि दुनिया के लिए नासूर बन चुके आतंकवाद के खात्मे के लिए भारत-अमेरिका साथ मिलकर काम करेंगे।

इस मुलाकात में अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने पीएम मोदी को महान प्रधानमंत्री बताया। साथ ही पीएम मोदी के कामों की तारीफ करते हुए कहा कि अमेरिका में उनकी मौजूदगी हमारे लिए सम्मान की बात है। व्हाइट हाउस में पीएम मोदी का ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप ने शानदार स्वागत किया। दोनों नेताओं के इस मुलाकात के बाद साझा बयान जारी किया गया। जिसमें कई मुद्दों के बारे में जानकारी दी गई।

MODI TRUMP

पीएम मोदी ने कहा हमारे बीच भारत अमेरिका के सामरिक हितों की चर्चा हुई। रणनितिक क्षेत्र में भारत अमेरिका के साथ मिलकर काम जारी रखेगा। पीएम मोदी ने कहा कि एक मजबूत अमेरिका भारत के हित में है। भारत और अमेरिका की नीति में समानता बताते हुए पीएम मोदी ने कहा हमारे न्यू इंडिया और अमेरिका के मेक अमेरिका ग्रेट अगेन में कोई फर्क नहीं है। इस सिद्धांत के जरिये दोनों देश मजबूत होंगे। पीएम ने आगे कहा भारत-अमेरिका विकास के ग्लोबल इंजन हैं। अपने दौरे का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा मेरा दौरा दोनों देशों के बीच सहयोग बढ़ाने में अहम साबित होगा।

पीएम मोदी ने जो बात कही ट्रंप भी उससे सहमत थे। ट्रंप ने आतंकवाद पर कहा कि आतंकवाद के खिलाफ दोनों देश मिलकर लड़ रहे हैं। भारत सबसे तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था है। ट्रंप ने कहा पीएम मोदी भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ रहे हैं। ट्रंप ने कहा सोशल मीडिया पर मैं और पीएम मोदी वर्ल्ड लीडर हैं। भारत अमेरिका का सच्चा दोस्त है।

MODI TRUMP

ट्रंप ने अमेरिका से हथियार खरीदने के लिए भारत को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा अमेरिका से हथियार और फाइटर प्लेन खरीदने से अमेरिका में रोजगार बढ़ेगा। उन्होंने कहा भारत और अमेरिका विश्व के लिए काफी कुछ कर सकते हैं।

दोनों नेताओं की इस मुलाकात में आतंकवाद को कुचलने के लिए हर कदम उठाने पर सहमति बनी। पीएम मोदी ने कहा आतंकवाद के साथ साथ उनके पनाहगारों पर भी कार्रवाई करनी होगी। हलांकि अपने बयान में पीएम मोदी ने पाकिस्तान का नाम नहीं लिया। वहीं ट्रंप ने कहा भारत और अमेरिका आतंकवाद को खत्म करने के लिए कटिबद्ध हैं। एक्सट्रीम इस्लामिक आतंकवाद को खत्म करना होगा।

Loading...