मन की बात में पीएम मोदी ने बताई EPI की परिभाषा

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 31वीं बार मन की बात कर रहे थे। जिसमें उन्होंने कहा कि देश में वीआईपी कल्चर को लेकर काफी गुस्सा है। इसलिए वो इस वीआईपी कल्चर को खत्म करेंगे। उन्होंने कहा गाड़ियों से लाल बत्ती तो हट गई है लेकिन मन के भीतर जो वीआईपी बैठा है उसे हटने में थोड़ा वक्त लगेगा। पीएम ने कहा देश में कोई वीआईपी नहीं है। देश में केवल EPI यानि ‘Every Person Is Important’ है।

दरअसल वीआईपी कल्चर को खत्म करते हुए केंद्र सरकार ने 1 मई से देशभर में लाल या नीली बत्ती के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है। इसके तहत केवल आपतकालीन सेवा में लगे वाहनों को ही छूट दी गई है। केंद्र सरकार के कैबिनेट के इस फैसले के तुरंत बाद ही कई केंद्रीय मंत्रियों ने अपनी गाड़ी पर लगा लाल बत्ती को हटा दी थी। यूपी सरकार ने 1 मई से पहले से ही यूपी में इसपर रोक लगा दी है।

इसके अलावे पीएम मोदी ने मन की बात में गर्मी, ग्लोबल वार्मिंग, पर्यटन, बच्चों की गर्मी छुट्टी के साथ साथ गौराया के संरक्षण पर भी लोगों से अपील की। पीएम ने कहा कि घर की छतों पर, बगीचों में, बालकनी में चिड़ियों के लिए पानी जरुर रखें। क्योंकि गर्मी के दिनों में कई पक्षी पानी के लिए भटकते रहते हैं। उन्होंने कहा इस बार गर्मी की छुट्टी में ट्रेन के जनरल कोच में बिना किसी रिजर्वेशन के सफर करें। एक दिन ही सही। इससे काफी कुछ आपको सीखने को मिलेगा।

Loading...