पहाड़ से पीएम मोदी का पंजे पर प्रहार- अब पंजा किसी का हक नहीं मार सकेगा

नई दिल्ली:  हिमाचल प्रदेश में पीएम मोदी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी आमने सामने हैं। कांग्रेस ने वीरभद्र पर भरोसा जताया है तो बीजेपी ने धूमल पर। लेकिन इन दोनों योद्धाओं को मजूबूती देने का काम कर रहे हैं इनके दिल्ली वाले नेता। जिनमें एक तरफ पीएम मोदी हैं तो दूसरी तरफ राहुल गांधी। दोनों नेताओं के बीच खुलकर वार-पलटवार चल रहा है। कहीं जुमलों का सहारा लिया जा रहा है तो कहीं कांग्रेस के इतिहास को खंगाल रहे हैं पीएम मोदी।

हिमाचल के उना की रैली में पीएम मोदी ने स्वर्गीय राजीव गांधी का नाम लेते हुए कांग्रेस पर हमला किया। जिसमें पीएम ने कहा कांग्रेस ने अबतक जो गरीबों का हक मारा है अब वो पंजा इस काबिल नहीं बचा कि वो किसी गरीब का हक मार सके। राजीव का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा राजीव गांधी ने बीमारी तो बता दी थी लेकिन उसका इलाज नहीं बताया।

एक वक्त में राजीव गांधी ने कहा था अगर केंद्र से वो 1 रुपया भेजते हैं तो जनता के हाथ में 15 पैसे ही आते हैं। इसी पर पीएम मोदी ने तंज कसा। पीएम ने कहा वो 85 पैसे पचा जानेवाला पंजा किसका था। इस बारे में तो उन्होंने कुछ बताया ही नहीं। पीएम ने कहा आजादी के बाद सबसे लंबे वक्त तक कांग्रेस ने देश में शासन किया है। लेकिन इसबार हिमाचल में मुकाबला एकतरफा है। ये चुनाव पार्टी या नेता नहीं बल्कि हिमाचल की जनता लड़ रही है।

पीएम मोदी ने केंद्र की योजनाओं का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा 57 हजार करोड़ रुपये मोदी ने बिचौलियों से छीन लिये। वह पैसा जनता की भलाई के काम आया। विपक्षी नेता हर समस्या के लिए मोदी को जिम्मेदार ठहराते हैं। वो ऐसा इसलिए कर रहे हैं क्योंकि जो 57 हजार करोड़ रुपये उनकी जेब में जाते थे, अब वो बंद हो गया। यही वजह है कि वो मोदी को घेरने की फिराक में रहते हैं।

सरकार सामान्य लोगों की आशाओं को पूरा करने में दिन रात जुटी है। जीएसटी पर बोलते हुए उन्होंने कहा कारोबारियों को जो भी समस्याएं आई थीं उन्हें काउंसिल ने दूर किया है। जो कुछ समस्याएं बची हैं वो राज्यों के विरोध की वजह से दूर नहीं किया जा सका। 9-10 तारीख को होनेवाली जीएसटी काउंसिल की बैठक में उन समस्याओं का भी हल निकाल लिया जाएग।

पीएम मोदी ने काला धन पर बोलते हुए कहा अगर कालेधन पर कानूनी शिकंजा नहीं कसा जाता तो आतंकियों की मदद करनेवाले दिल्ली की जेल में नहीं पड़े होते। पाकिस्तान से पैसे मंगाकर भारतीय जवानों को पत्थर मारे जाते थे। लेकिन अब ये खेल बंद हो गया है। कांग्रेस को अब इससे परेशानी है और वो 8 नवंबर को कालाधन दिवस मनाने जा रही है।

(Visited 3 times, 1 visits today)
loading...

One thought on “पहाड़ से पीएम मोदी का पंजे पर प्रहार- अब पंजा किसी का हक नहीं मार सकेगा

  • November 5, 2017 at 8:09 pm
    Permalink

    तुम जो आम जनता का हक मार कर अम्बानी अदानी और अमित का घर भर रहे हो उसका क्या ?

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *