कांग्रेस-बीजेपी के खिलाफ केजरीवाल का एलान-ए-जंग

अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले पर आम आदमी पार्टि ने दिल्ली में कांग्रेस और बीजेपी दोनों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। AAP के इस हमलावर रुख के बाद जो बीजेपी सदन के भीतर कांग्रेस पर भारी पड़ती हुई दिखाई दे रही उसी बीजेपी के लिए दिल्ली के जंतर मंतर से AAP के नेताओं ने कई सवालों के जवाब मांग लिये।

अगस्ता मामले पर सदन के भीतर भले ही बीजेपी ने आंकड़ों और तारीखों का पूरा लेखा जोखा कांग्रेस के सामने रख दिया। लेकिन अपने दो साल के शासनकाल में बीजेपी ने अगस्ता वेस्टलैंड की जांच मे क्या-क्या पता लगाया इस बारे में कोई ठोस जवाब नहीं दे सकी। उन्हीं उनसुलझे सवालों का जवाब दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल भी मांग रहे हैं बीजेपी और कांग्रेस से। क्योंकि दोनों ही पार्टियां अगस्ता वेस्टलैंड पर एक दूसरे को कसूरवार ठहरा रही हैं लेकिन आम आदमी पार्टी ने दोनों को कसूरवार माना है।

जंतर मंतर पर सीएम और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा की कांग्रेस और बीजेपी में महागठबंधन हो चुका है। जंतर मंतर पर इन दोनों पार्टियों पर हमलावर अरविंद केजरीवाल ने कहा कि

मोदी सरकार इतनी हिम्मत नहीं जुटा सकते हैं कि वो रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ सीबीआई जांच करवा सकें।

अगस्ता वेस्टलैंड की धीमी जांच पर केजरीवाल ने कहा की मोदी जी को इस बात का डर है कि अगर उन्होंने सोनिया गांधी की गिरफ्तारी की तो उनके खुद के कई राज खुल जाएंगे।

रॉबर्ट वाड्रा पर चुटकी लेते हुए केजरीवाल ने कहा की चुनाव से पहले मोदी जी कहते थे वाड्रा कांग्रेस के दामाद हैं, देश के दामाद हैं लेकिन चुनाव के बाद लगता ही मोदी जी ने वाड्रा को गोद ले लिया।

आम आदमी पार्टि के नेताओं पर की गई कार्रवाई पर बोलते हुए केजरीवाल ने कहा की हमारे नेताओं को जरा सी बात पर जेल में डाल दिया गया। लेकिन सोनिया गांधी को जेल में क्यों नहीं डालते।

जंतर मंतर पर आम आदमी पार्टी पहुंची थी अगस्ता वेस्टलैंड पर विरोध जताने। लेकिन निशाने पर पूरी तरह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रहे। AAP के इस विरोध में पीएम की डिग्री का भी जिक्र किया गया। सीएम अरविंद केजरीवाल ने एक तरह से फैसला सुनाते हुए कहा की पीएम ने अपने हलफनामे में झूठ बोला है। उनके पास दिल्ली यूनिवर्सिटी से बीए पास होने की कोई डिग्री नहीं है।

जंतर मंतर से मोदी सरकार और कांग्रेस पर हमला बोलने के बाद AAP का काफिला 7 आरसीआर और दस जनपथ की तरफ बढ़ गया। क्योंकि विरोध के कार्यक्रम में पीएम आवास और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के घर के घेराव की रणनीति भी थी। हलांकी इस कोशिश में कई AAP कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया।

Loading...

Leave a Reply