सुरेश प्रभु ने कहा गुड बाय, पीयूष चलाएंगे रेल और जेटली बने रहेंगे रक्षा मंत्री!

नई दिल्ली:  केंद्र की मोदी सरकार ने सबसे बड़ा कैबिनेट विस्तार किया है।जिसमें कई मंत्रियों को प्रमोशन दिया गया तो कई नए मंत्री भी शमिल किये गए। इस कैबिनेट विस्तार में 9 नए राज्य मत्री बनाए गए हैँ। जबकि 4 राज्य मंत्रियों को उनके प्रदर्शन के आधार पर कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। इनमें मुख्तार अब्बास नकवी, निर्मला सीतारमन, पीयूष गोयल और धर्मेंद्र प्रधान शामिल हैं।

इस मंत्रिमंडल विस्तार के बाद रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि उन्होंने रेल मंत्रालय छोड़ दिया है। हलांकि प्रभु ने रेल मंत्री के पद से इस्तीफे की पेशकश काफी पहले की थी। लेकिन उन्हें पीएम की तरफ से इंतजार करने के लिए कहा गया था। सुरेश प्रभु ने ट्वीट कर रेलवे के 13 लाख से ज्यादा कर्मचारियों को उनके सहयोग लिए धन्यवाद कहा है। प्रभु ने ट्वीट पर ही उन कर्मचारियों को उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामना दी है।

वहीं एक खबर ये भी है कि सुरेश प्रभु के  हटने के बाद अब ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल को रेल मंत्रालय सौंपा जाएगा। पीयूष गोयल को मंत्रिमंडल विस्तार में प्रमोशन भी दिया गया है। पीयूष गोयल को राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार से प्रमोट कर कैबिनेट मंत्री बनाया गया है।

इस बार के मंत्रिमंडल विस्तार में सबसे ज्यादा चर्चा में रहा रक्षा मंत्रालय । हर कोई ये जानना चाहता था कि नया रक्षा मंत्री कौन होगा। लेकिन सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि फिलहाल रेल मंत्री अरुण जेटली ही रहेंगे। हाल ही में जेटली रक्षा मंत्री के तौर पर जापान भी जाना है। शायद ये भी वजह रही कि रक्षा मंत्रालय में बदलाव नहीं किया गया है।

जिन 9 राज्य मंत्रियों को शपथ दिलाई गई उनमें शामिल हैं

बागपत से सांसद सत्यपाल सिंह

जोधपुर से सांसद गजेंद्र सिंह शेखावत

हरदीप सिंह पुरी – किसी सदन के सदस्य नहीं

अनंत कुमार हेगड़े- कर्नाटक के उत्तर कन्नड़ से सांसद

अश्विनी कुमार चौबे और वीरेंद्र कुमार

शिव प्रताप शुक्ल

अल्फोंस कन्नथनम ने भी राज्य मंत्री की शपथ ली है।

Loading...

Leave a Reply