महंगे पेट्रोल से परेशान हैं, तो विश्व बैंक की चेतावनी पढ़िये 98 रु. तक जा सकती है कीमत

नई दिल्ली:  अगर आप ये सोच रहे हैं कि 60…65…70 के बाद पेट्रोल की कीमत इतनी हो जाएगी कि आपको इसे खरीदने में सोचना नहीं होगा तो आपकी ये उम्मीद पूरी होते हुए नहीं दिख रही है। ये हम नहीं विश्व बैंक की चेतावनी कहती है। विश्व बैंक की चेतावन के मुताबिक पेट्रोल की कीमत अभी और ऊंचाई पर पहुंचेगी और नए रिकॉर्ड भी बनाएगी।

विश्व बैंक ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि पेट्रोल डीजल की कीमत में 20 फीसदी तक इजाफा हो सकता है। विश्व बैंक ने अप्रैल महीने की कमोडिटी मार्केट आउटलुक रिपोर्ट जारी की है। जिसमें अनुमान लगाया गया है कि इस साल एनर्जी कमोडिटी की कीमतों में 20 फीसदी का इजाफा हो सकता है। एनर्जी कमोडिटी के तहत कच्चा तेल, गैस और कोयला शामिल होता है। अगर इस रिपोर्ट पर यकीन करें तो भारत भी एनर्जी कमोडिटी की बढ़ने वाली कीमत से अछुता नहीं रहेगा।

मुंबई में फिलहाल पेट्रोल 82.48 रुपये प्रित लीटर के हिसाब से मिल रहा है। अब अगर इसमें 20 फीसदी के इजाफे को जोड़ दें तो कीमत तकरीबन 98 रुपये के करीब पहुंच जाती है। वैसे भी गुरुवार को दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 74.63 रुपये पहुंच गया। जबकि डीजल 65. 93 रुपये के आंकड़े पर पहुंच गया। यानि 20 फीसदी बढ़ोतरी के बाद दिल्ली में भी पेट्रोल 88 रुपये के करीब पहुंच जाएगा।

विश्व बैंक की रिपोर्ट के मुताबिक 2018 में अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की औसत कीमत 65 डॉलर रह सकती है। लेकिन मौजूदा वक्त में कीमत 74 डॉलर प्रति बैरल पर है। भारत अपने तेल की जरुरतों को पूरा करने के लिए 82 फीसदी तेल का आयात करता है। इसलिए अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत को लेकर होनेवाले हर छोटे बड़े बदलाव का सीधा असर तेल की कीमतों पर पड़ता है।

Loading...