पटना: आसरा होम की मालकिन मनीषा दयाल गिरफ्तार

पटना/बिहार:  बेसहारा और मानसिक तौर पर विक्षिप्त लड़कियों को सहारा देने के लिए आसरा होम बनाया गया। इसी साल अप्रैल महीने में इसकी शुरुआत की गई। लेकिन अब आसरा होम में दो लड़कियों की संदिग्ध मौत के बाद आसरा होम शक के घेरे में है। इस मामले में पुलिस ने इसकी मालकिन मनीषा दयाल को गिरफ्तार किया है। आसरा होम में जाने वाले डॉक्टर को भी पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है। इस शेल्टर होम को अनुमाया ह्यूमन रिसोर्स फाउंडेशन नाम का एनजीओ चलाता है। मनीषा दयाल इस एनजीओ की मालकिन हैं।

दो लड़कियों की मौत के मामले में बताया जा रहा है कि 10 अगस्त को आसरा होम से 4 लड़कियों को भगाने की कोशिश हुई थी। जिस दिन इन चारों लड़कियों को भगाने की कोशिश हुई थी उसी दिन दो लड़कियों की मौत भी हुई थी। इस मामले में आसरा होम के बगल में रहनेवाला पड़ोसी बनारसी को भी गिरफ्तार किया जा चुका है। दरअसल बनारसी के घर का छत और आसरा होम का छत आपस में मिले हुए हैं।

इस मामले में सबसे बड़ी गिरफ्तारी आसरा होम की मालकिन मनीषा दयाल की है। मनीषा पटना में हाई प्रोफाइल सोसायटी से ताल्लुक रखती हैं। वो एक एनजीओ चलाती हैं और एक मैगजीन की मालकिन भी हैं। उनकी तस्वीर कई नेताओं के साथ भी मिली है। जेडीयू नेता श्याम रजक के साथ भी मनीषा की तस्वीर है।

इस तस्वीर पर श्याम रजक का कहना है को वो उनसे मिलने आई थी। साथ ही रजक ने कहा कि ये तस्वीर तकरीबन 8 महीने पुरानी है। मनीषा से दो-तीन बार मुलाकात हुई है।

इस मामले में पटना के एसएसपी और डीएम आसरा होम में रहनेवाली लड़कियों और होम की महिलाओं से पूछताछ कर रही है। जिन दो महिलाओं की मौत हुई थी उनमें से एक का अंतिम संस्कार भी कर दिया गया है, जबकि दूसरे का दोबारा पोस्टमार्टम किया जा रहा है।

Loading...