पतंजलि के ‘दंतकांति’ टूथपेस्ट का विज्ञापन भ्रामक !

पतंजलि के एक और प्रोडक्ट के विज्ञापन पर सवाल उठाए गए हैं। इसबार सवाल उठाया है एडवर्टाइजिंग स्टैंडर्ड्स काउंसिल ऑफ इंडिया यानि FSCI की तरफ ने। FSCI ने कहा है कि पतंजलि के प्रोडक्ट ‘दंतकांति’ टूथपेस्ट के विज्ञापन में दिये गए दावे को बढ़ा चढ़ाकर किया गया है। दंतकांति पतंजलि का सबसे ज्यादा बिकने वाला उत्पाद है। FSCI इससे पहले पतंजलि के सरसों तेल, फ्रूट जूस और पशु चारे पर भी सवाल उठा चुका है और विज्ञापनों को गलत पाया है। महीने भर पहले बाबा रामदेव हेयर ऑयल और वाशिंग पाउडर पर भी अपनी किरकिरी करा चुके हैं।

FSCI ने ‘दंतकांति’ के विज्ञापन पर कहा है कि ‘दंत कांति के विज्ञापन में पायरिया की समस्या, मसूढ़ों में सूजन और ब्लीडिंग, दांतों के पीलेपन में प्रभावी बताया गया है। इसके अलावे दावा किया गया है कि यह लंबे समय के लिए दांतों की रक्षा करता है और कीटाणुओं से बचाता है। पतंजलि का यह दावा भ्रामक है।‘

हलांकि FSCI ने केवल पतंजलि के विज्ञापन को ही भ्रामक नहीं बताया है। FSCI ने पतंजलि के अलावे हिंदुस्तान यूनिलीवर, केलॉग इंडिया, प्रॉक्टर एंड गेंबल, लॉरिएल इंडिया और कोलगेट के विज्ञापनों को भी भ्रामक माना है। संस्था ने यूनिलीवर के ‘रेक्सोना रोल ऑन पाउडर’ के विज्ञापन में किये गए दावों को गलत पाया है। इसके अलावे लॉरिएल के ‘डबल एक्शन फेश वॉश’ के विज्ञापन में भी बढ़ा चढ़ाकर दावे किये गए हैं।
-Baba Ramdev, Patanjali Dant Kanti

Loading...

Leave a Reply