UN में पाकिस्तान के झूठ पर भारत का जवाब, ‘टेररिस्तान’ ना सिखाए हमें मानवता

नई दिल्ली:  संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में पाकिस्तान ने एक बार फिर कश्मीर का राग अलापा है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी ने कहा कि कश्मीर में भारत ने सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव का पालन नहीं किया है। अब्बासी ने कहा कि भारत ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव को लागू करने से इनकार कर दिय। जो कश्मीर में जनमत संग्रह की बात करता है। कश्मीरियों को अपनी किस्मत का फैसला करने की इजाजत देने की बजाय भारत ने वहां 7 लाख सुरक्षाबलों की तैनाती कर दी।

अब्बासी ने अपने झूठ को आगे बढ़ाते हुए कहा कि भारत कश्मीर में मानवाधिकार का उल्लंघन कर रहा है। वहां के लोगों पर पैलेट गन का इस्तेमाल किया जा रहा है। वहां बेगुनाहों को निशाना बनाया जा रहा है। पाकिस्तान कश्मीर में भारत के बर्बरता की अंतरराष्ट्रीय जांच की मांग करता है। अब्बासी ने कहा भारत कश्मीर में जिनेवा कन्वेंशन का उल्लंघन कर रहा है। अब्बासी ने एक बार फिर से कश्मीर में यूएन से दखल की मांग की है। जबकि  भारत एक बार नहीं कई बार कश्मीर में तीसरे पक्ष के दखल से इनकार कर चुका है।

पाकिस्तान के इस झूठ पर भारत ने करारा जवाब दिया है। भारत की तरफ से कहा गया है कि पाकिस्तान ‘टेररिस्तान’ है। जहां से आतंकियों को भारत में घुसपैठ कराया जा रहा है। साथ ही भारत ने कहा कश्मीर में मानवाधिकार पर पाकिस्तान के सलाह की जरुरत नहीं है। पाकिस्तान को ये समझ लेना चाहिए का कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है। साथ ही भारत ने कहा कि पाकिस्तान अपनी ही धरती पर मानवाधिकार का उल्लंघन करता रहा है।

Loading...

Leave a Reply