आतंकी हाफिज के लिए धड़का मुशर्रफ का दिल बोले ‘आई लव लश्कर…’

नई दिल्ली:  आतंक के कितने करीब हैं पाकिस्तान के पूर्व तानाशाह परवेज मुशर्रफ ये बात उन्होंने खुद कबूल की है। परवेज मुशर्रफ ने एक पाकिस्तानी चैनल को दिये इंटर्व्यू में कहा कि वो लश्कर ए तौयबा का पसंद करते हैं और लश्कर भी उन्हें पसंद करता है। मुशर्रफ ने कहा कि मैं हमेशा से भारतीय सेना को कश्मीर में कुचलना चाहता था। मुशर्रफ ने हाफिज से मुलाकात की बात भी कबूल की।

इंटर्व्यू में मुशर्रफ ने खुले तौर पर कबूल किया कि उन्हें लश्कर ए तोयबा से मोहब्बत है और लश्कर और जमात उद दावा भी उन्हें चाहते हैं। उन्होंने कहा कि वो हाफिज सईद से भी मिल चुके हैं और कश्मीर में उनकी भूमिका है। मैं हमेशा से कश्मीर में एक्शन के पक्ष में रहा हूं और कश्मीर में एक्शन के लिए ये परफैक्ट फोर्स है। भारत ने अमेरिका के साथ मिलकर इन्हें आतंकी घोषित करवा दिया। मैं हमेशा से कश्मीर में भारतीय सेना को कुचलना चाहता था।

जमात उद दावा प्रमुख हाफिज सईद कुछ दिन पहले ही पाकिस्तान में नजरबंदी से रिहा हुआ है। पाकिस्तान सरकार ने हाफिज का समर्थन करने के लिए अपनी तरफ से उसके खिलाफ कोई सबूत कोर्ट में पेश ही नहीं किये। जिसकी वजह से सबूतों के अभाव में कोर्ट ने हाफिज सईद की नजरबंदी और आगे बढ़ाने से इनकार कर दिया। हाफिज को जनवरी 2017 में पंजाब सरकार ने आतंकवाद रोधी कानून 1997 के तहत नजरबंद किया था।

सईद की रिहाई का अमेरिका ने भी विरोध किया था। और पाकिस्तान सरकार से उसे जल्द गिरफ्तार करने के लिए कहा था। लेकिन पाकिस्तानी सरकार ने इसपर कोई कारर्वाई नहीं की। दरअसल आईएसआई और पाकिस्तानी सेना हाफिज के रिहाई का समर्थन कर रही थी। और पाकिस्तान में सरकार वही फैसला करती है जो वहां की सेना और आईएसआई चाहती है।

अमेरिका ने हाफिज सईद पर 1 करोड़ डॉलर का इनाम रखा है। 10 महीने के नजरबंदी के बाद हाफिज रिहा हुआ है। और अब परवेज मुशर्रफ ने आतंकी हाफिज उसके संगठन जमात उद दावा और लश्कर ए तोयबा से मोहब्बत का इजहार किया है।

Loading...