KulBhushan-Jadhav

पाकिस्तान की सैन्य अदालत में कुलभूषण जाधव की दया याचिका खारिज

पाकिस्तान की सैन्य अदालत में कुलभूषण जाधव की दया याचिका खारिज

नई दिल्ली:  कुलभूषण का बचाने की कोशिशों को एक बड़ा झटका लगा है। पाकिस्तान की सैन्य अदालत में कुलभूषण जाधव की दया याचिका खारिज हो गई है। इस याचिका के खारिज होने के बाद अब उम्मीद पाकिस्तान के सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा पर टिकी हैं। बाजवा अब कुलभूषण जाधव पर लगे आरोपों की जांच करेंगे और दया याचिका की अपील पर फैसला करेंगे।

पाकिस्तान की अदालत में कुलभूषण जाधव को फांसी की सजा सुनाए जाने के बाद भारत ने आईसीजे यानि इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस में अपील की है। भारत की अपील पर सुनवाई करते हुए आईसीजे ने सुनवाई पूरी होने तक जाधव की फांसी पर रोक लगा रखी है। आईसीजे ने भारत को जाधव के मामले में दस्तावेज जमा करवाने के लिए 13 सितंबर तक का वक्त दिया है। पाकिस्तान को आईसीजे में अपना पक्ष 13 दिसंबर तक रखना है।

जाधव के मामले पर पाकिस्तान का पक्ष हमेशा से संदेह में रहा है। अबतक भारत की तरफ से 16 बार पाकिस्तान से काउंसलर एक्सेस की मांग की जा चुकी है। लेकिन पाकिस्तान इसपर राजी नहीं हुआ है। पाकिस्तान भारतीय राजनयिकों को जाधव से मिलने नहीं देना चाहता है। यही वजह है कि पाकिस्तान ने हर बार भारत की काउंसलर एक्सेस की मांग को ठुकरा दिया है।

पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव पर जासूसी का आरोप लगाकर गिरफ्तार किया है। पाकिस्तान का दावा है कि जाधव को बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया गया है। जबकि सच्चाई ये है कि जाधव को ईरान से अगवा किया गया था। जाधव भारतीय नौ सेना के रिटायर अफसर हैं। और वो ईरान में अपना व्यवसाय करते थे।

Loading...

Leave a Reply