औकात भूलकर पाकिस्तान ने चीन से मांगा बुलेट ट्रेन, मिला ये जवाब, Video

नई दिल्ली:  भारत में पूरे विधि विधान के साथ गुरुवार 14 सितंबर को अहमदाबाद में बुलेट ट्रेन का आधारशिला रख दिया गया। इसकी के साथ बुलेट ट्रेन के निर्माण का काम भी शुरु हो गया है। जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे और पीएम मोदी ने इस बड़े काम की शुरुआत की। बुलेट ट्रेन के शिलान्यास के साथ ही रेलवे सफर में एक नए युग की शुरुआत हो गई है। भारत को पहली बुलेट ट्रेन 2022 में मिलेगी।

भारत की इस नई क्रांति को देखकर पाकिस्तान अपनी औकात भूल गया। भारत में बुलेट ट्रेन के निर्माण में जापान अहम साझीदार है। इसलिए पाकिस्तान ने चीन से बुलेट ट्रेन की मांग कर दी। पाकिस्तान की इस मांग पर चीन हैरान हो गया। उसने कहा आप बुलेट ट्रेन रहने दें आपके यहां जो ट्रनें चलती हैं उसी ही सही तरीके से चला लें। इसके बाद पाकिस्तान ने इसकी वजह पूछी। जिसपर चीन ने कहा आपके यहां लोगों के पास इतने पैसे ही नहीं है कि वो बुलेट ट्रेन में सफर कर सकें। चीन ने बुलेट का ख्वाब छोड़कर जमीन पर रहें।

चीन में हुई इस बेइज्जती की जानकारी खुद पाकिस्तान के मंत्री ने ही असेम्बली में दी। पाकिस्तान के रेल मंत्री रफीक ने कहा कि पाकिस्तान के पास इतना पैसा नहीं है कि बुलेट ट्रेन चलायी जा सके। उन्होंने ही कहा जब चीन से इसपर बात की गई थी तो चीन ने मना कर दिया था। आप भी देखिये वीडियो में चीन ने कैसे तौली थी पाकिस्तान की औकात…

Loading...

Leave a Reply