अब अमेरिका में पाकिस्तानी नागरिकों की एंट्री पर प्रतिबंध की तैयारी?




नई दिल्ली: अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने अमेरिका में 7 मुस्लिम देशों के लोगों की एंट्री पर प्रतिबंध लगा दी है। जिसके बाद अब ये संकेत दिये जा रहे हैं कि इसे और आगे ले जाने की जरुरत है। ये संभावना भी जताई जा रही है कि आनेवाले वक्त में हो सकता है अमेरिका में पाकिस्तान के नागरिकों के आने पर प्रतिबंध लगा दिया जाए।

हलांकि ट्रंप के इस फैसले की चौतरफा निंदा हो रही है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी इस प्रतिबंध की आलोचना हो रही है। कहा जा रहा है कि ट्रंप ने दुनिया को बांट दिया। ट्रंप के इस फैसले के खिलाफ प्रतिनिधि सभा में सियेटल से डेमोक्रेटिक पार्टी की सदस्य प्रिमिला जयपाल ने कहा है कि वो इस असंवैधानिक शासकीय आदेश के खिलाफ लड़ेंगे। प्रमिला भारतीय मूल की हैं।

प्रमिला का कहना है कि ‘राष्ट्रपति ट्रंप के निर्मम शासकीय आदेशों ने हमारे देश को संकट में धकेल दिया है और देशभर के मुसलमानों के दिल में दहशत पैदा कर दी है। हवाई अड्डे पर पकड़े गए दो प्रवासियों का रिहा होना राष्ट्रपति की अमानवीय नीतियों के खिलाफ हमारी लड़ाई की छोटी जीत है।‘

इसके उलट व्हाइट हाउस की तरफ कहा जा रहा है कि ‘चुनावी वादे के मुताबिक ट्रंप काम कर रहे हैं।‘ व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव सीन स्पाइसर ने कहा ‘यह कुछ भी नया नहीं है। राष्ट्रपति ट्रंप ने पूरे चुनाव प्रचार और सत्ता हस्तांतरण के दौरान बात ये बात की। स्पाइसर ने आगे कहा जिन देशों के लोगों के अमेरिका में आने पर प्रतिबंध लगाई है उनको ओबामा प्रशासन के दौरान विशेष चिंता वाले देशों की सूची में रखा गया था।‘

दरअसल ट्रंप ने पिछले दिनों 7 मुस्लिम देशों ईरान, इराक, लीबिया, सूडान, यमन, सीरिया और सोमालिया के लोंगों के अमेरिका में आने पर 90 दिनों के लिए प्रतिबंध लगा दिया है। ट्रंप के इस फैसले के खिलाफ लोग अमेरिका में भी सड़कों पर उतरने लगे हैं।

Loading...

Leave a Reply