rajnath-singh-islamabad2

पाकिस्तान सरकार ने राजनाथ के भाषण से भारतीय मीडिया को किया आउट !

पाकिस्तान सरकार ने राजनाथ के भाषण से भारतीय मीडिया को किया आउट !

पाकिस्तान: पाकिस्तान के इस्लामाबाद में सार्क सम्मेलन में शामिल होने गए गृह मंत्री राजनाथ सिंह के भाषण के प्रसारण पर पाकिस्तानी सरकार ने रोक लगा दी थी। सार्क सम्मेलन में जब गृह मंत्री राजनाथ सिंह का भाषण शुरु हुआ तो पाकस्तानी सरकार की तरफ से भारतीय मीडियाकर्मियों को बाहर निकल जाने के लिए कहा गया। वहां मौजूद भारतीय मीडियाकर्मियों से कहा गया कि भाषण के प्रसारण की इजाजत नहीं है इसलिए वो बाहर चले जाएं।

जब मीडियाकर्मियों ने इसपर सवाल किये तो पाकिस्तानी प्रतिनिधियों के पास कोई साफ जवाब नहीं था। भारतीय मीडियाकर्मियों ने विरोध इसलिए जताया क्योंकि राजनाथ सिंह से पहले जब पाकिस्तान के गृह मंत्री भाषण दे रहे थे तो उनके भाषण का लाइव प्रसारण किया गया था। लेकिन जब भारत की बारी आई तो उसके प्रसारण पर रोक लगा दी गई।

इससे साफ होता है कि सार्क सम्मेलन में शामिल होने के लिए राजनाथ सिंह के इस्लामाबाद जाने पर केवल पाकिस्तान में बैठे आतंकी सरगना ही बौखलाए हुए नहीं थे बल्की पाकिस्तानी सरकार भी पूरी तरह से घबराई हुई थी। पाकिस्तानी सरकार को इस बात का डर था कि भारत की तरफ से उसपर जब सवाल उठाए जाएंगे तो उसका जवाब देना उसके लिए आसान नहीं होगा। पाकिस्तानी सरकार के इस रवैये के बाद गृह मंत्री राजनाथ सिंह सार्क देशों के सम्मान में दिये गए लंच में शामिल हुए बगैर भारत लौट आए।

राजनाथ सिंह ने सार्क सम्मेलन में अपने भाषण में पठानकोट, ढाका और काबुल में हुए आतंकी हमले का मुद्दा उठाया। राजनाथ सिंह ने कहा कि आतंकियों की मदद करने वाले देश और उनकी मदद करने वाले संगठनों पर भी कार्रवाई होनी चाहिए। आतंकियों का महिमा मंडन बंद होना चाहिए। आतंकियों को शहीद बताने पर रोक लगना चाहिए। आतंकी घटनाओं की केवल निंदा करने से काम नहीं चलेगा बल्की उनपर कड़ी कार्रवाई करनी होगी।
गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने ये सारी बातें बगैर पाकिस्तान का नाम लिये कही। लेकिन पाकिस्तान को खुद के बारे में अच्छी तरह से पता है। इसलिए एक सोची समझी योजना के तहत पाकिस्तानी सरकार ने राजनाथ सिंह के भाषण पर रोक लगाने की साजिश रची। पाकिस्तान की कोशिश ये थी कि उसकी बात तो दुनिया तक पहुंच जाए लेकिन भारत की बात इस्लामाबाद के उस कमरे तक ही सिमट कर रह जाए।

Loading...

Leave a Reply