बढ़ रही है ‘पद्मावत’ की मुश्किल, गुजरात में भी रिलीज नहीं होगी फिल्म

नई दिल्ली:  संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत की मुश्किल कम नहीं हो रही है। सेंसर बोर्ड से तो फिल्म को मंजूरी मिल गई। रिलीज की तारीख भी तय हो गई लेकिन करणी सेना इसके बाद भी फिल्म का विरोध करने पर तुली है। अब गुजरात में भी फिल्म के प्रदर्शन पर रोक लगा दी गई है। इससे पहले राजस्थान और मध्य प्रदेश में भी फिल्म के प्रदर्शन पर रोक लगाई जा चुकी है।

करणी सेना की तरफ से फिल्म में ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ का आरोप लगाया गया था। जिसके बाद फिल्म का नाम बदलकर पद्मावती से पद्मावत किया गया। फिल्म में डिस्क्लेमर भी जोड़ा गया। कई सीन में भी बदलाव किये गए। घूमर वाले गाने को लेकर भी काफी विवाद हुआ था। जिसके बाद इस गाने में काट-छांट की बात की गई। लेकिन इतना सबकुछ करने के बाद भी संजय लीला भंसाली की मुश्किल कम नहीं हुई है।

ये नहीं कहा जा सकता है कि फिल्म के रिलीज के बाद सबकुछ शांतिपूर्ण रहेगा। क्योंकि करणी सेना फिल्म के विरोध का फैसला कर चुकी है। पद्मावत 25 जनवरी को तीन भाषाओं हिंदी, तमिल और तुलुगू में रिलीज होगी

सेंसर बोर्ड ने मुख्य तौर पर तीन बदलाव करने के सुझाव दिये थे।

फिल्म का नाम पद्मावती से बदलकर पद्मावत किया जाएगा

घूमर गाने में बदलाव किया जाएगा

फिल्म में डिस्क्लेमर डाला जाएगा जिसमें ये लिखा जाएगा कि ये फिल्म किसी भी तरह से सती प्रथा को बढ़ावा नहीं देती है।

सेंसर बोर्ड की 28 दिसंबर 2017 की बैठक में ये तय किया गया कि फिल्म को UA सर्टिफिकेट दिया जाएगा। विशेष सलाहकार पैनल की बैठक में ये तय किया गया। इस पैनल में सेंसर बोर्ड के चीफ प्रसून जोशी, इतिहासकार अरविंद सिंह, डॉ. चंद्रमणि सिंह और डॉ. के के सिंह मौजूद थे।

Loading...