विपक्ष संसद में बोलने नहीं देता इसलिए जनसभा में बोलता हूं- पीएम मोदी

नई दिल्ली: नोटबंदी लागू करने के बाद पीएम मोदी पहली बार गुजरात गए थे। पीएम मोदी गुजरात के दिसा में रैली को संबोधित कर रहे थे। जिसमें उन्होंने नोटबंदी पर विपक्ष के रवैये पर तीखा प्रहार किया। पीएम ने कहा वो मुझे संसद में बोलने नहीं देते इसलिए जनसभा में बोल रहा हूं। पीएम ने कहा सरकार चर्चा करना चाहती है मैं जवाब देना चाहता हूं लेकिन विपक्ष चर्चा से भाग रहा है।

पीएम मोदी कॉपरेटिव डेयरी का उद्घाटन करने गुजरात के दिसा गए थे। वहां पीएम मोदी ने कहा ‘8 नवंबर के पहले 10,20,50 और 100 के नोट को कोई नहीं पूछता था। ये छोटे नोट को नहीं रखना चाहता था। सभी 500 और 1000 रुपये के नोट के पीछे भागते थे। लेकिन नोटबंदी के बाद इन छोटे नोटों की पूछ बढ़ गई है।‘

उन्होंने संसद में जारी गतिरोध पर विपक्ष पर निशाना साधा। पीएम ने कहा ‘संसद में विपक्ष के रुख से राष्ट्रपति को भी पीड़ा हुई है। उन्हें भी सांसदों को टोकना पड़ा।‘ पीएम मोदी ने कहा ‘सरकार सदन में चर्चा के लिए तैयार है। ये भी कहा जा चुका है कि मैं संसद में जवाब देना चाहता हूं लेकिन विपक्ष मुझे संसद में बोलने नहीं देता इसलिए मैं जनसभा में बोलता हूं।‘

पीएम मोदी ने कहा ‘छोटे लोगों की ताकत बढ़ाने के लिए मैंने बहुत बड़ा फैसला लिया है। व्यापारी पहले कहते थे पक्का बिल कि कच्चा बिल। मकान खरीदने के लिए चेक में इतना रोकड़े में इतना। अब गरीब कहां से रोकड़ा लाए। वो लोग नोट छापते गए और देश का अर्थतंत्र इन नोटों के ढेर के नीचे दबने लग गया। मेरी लड़ाई आतंकवाद के खिलाफ है, नकली नोट का सीमा पार से कारोबार चलता है। नक्सलवाद में सारे नौजवान सरेंडर होकर वापस आ रहे हैं। आतंकवादियों को जहां से ताकत मिलती थी हम उन रास्तों को रोकने में सफल रहे हैं।

पीएम ने नोटबंदि में साथ देने के लिए एक बार फिर देशवासियों का नमन किया है। उन्होंने कहा ‘मैंने पहले ही कहा था 50 दिन मुश्किल भरे होंगे। ये इतना आसान नहीं है। बहुत बड़ा बदलाव है। इसके लिए 50 दिन का समय चाहिए। इन 50 दिनों तक आपकी तकलीफ बढ़ेगी, आपको परेशानी होगी। लेकिन 50 दिन पूरे होने के बाद धीरे धीरे हालात सामान्य होने लगेंगे। आप सबों को भी ये अंदाजा हो जाएगा कि जैसे ही 50 दिन पूरे होंगे हालात पहले की तरह सामान्य होने लगेंगे।

पीएम ने विपक्ष पर हमला करते हुए कहा ‘वो सीधे तौर पर ये कहने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं कि सरकार अपना फैसला वापस ले। इसलिए वो कह रहे हैं 7 दिनों के लिए फैसला टाल दिया जाए। मैं उनसे पूछना चाहता हूं ये 7 दिनों में क्या बदल जाएगा। कौन सा खेल हो जाएगा इन 7 दिनों में।‘

पीएम मोदी के इस बयान पर पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने कहा ‘पीएम भी जानते हैं कि नोटबंदी फेल हो चुकी है। उनके पास भाषण देने के अलावे और कोई दूसरा रास्ता नहीं बचा है।‘ वहीं गुरुवार को राहुल ने कहा था ‘मोदी जी मुझसे डरते हैं। मैं संसद में बोलूंगा तो भूकंप आ जाएगा। इसलिए वो मुझे बोलने नहीं देते।‘

Loading...