16 वीं लोकसभा में सोनिया-राहुल ने अबतक नहीं पूछे कोई सवाल, मतलब मोदी सरकार पास ?

16वीं लोकसभा का गठन हुए दो साल से ज्यादा हो गए हैं। अबतक इसके 8 सत्र हो चुके हैं। इतना ही वक्त केंद्र में एनडीए के शासन का और इतना ही वक्त कांग्रेस के विपक्ष में बैठे हुए हो गए। लेकिन एक वेबसाइट indiaspend के मुताबिक सवाल पूछने के मामले में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और उनकी मां और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी सबसे पीछे हैं। यानि सवाल पूछने के मामले में इन्हें जीरो अंक मिले। इसका मतलब ये है कि सोनिया और राहुल ने 16वीं लोकसभा में अबतक एक भी सवाल नहीं पूछे हैं। हलांकी इसपर पार्टी का कहना है कि ‘हमने लगातार सरकार की जनविरोधी नीतियों की आलोचना की है। और सकारात्मक विपक्ष की भूमिका निभा रहे हैं। कांग्रेस नेताओं ने सवाल किया और वो सवाल पार्टी की तरफ से किया गया सवाल है। पार्टी ने जो सवाल सरकार से पूछे वो सवाल राहुल गांधी की तरफ से पूछे गए सवाल हैं।‘

सोनिया-राहुल अकेले ऐसे सांसद नहीं हैं जिन्होंने सरकार से 16वीं लोकसभा में सवाल नहीं किये हैं। बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी भी सोनिया-राहुल की श्रेणी में शामिल हैं। क्योंकि आडवाणी ने भी सरकार से कोई सवाल नहीं पूछे हैं।

अगर सबसे ज्यादा सवाल पूछनेवाले सांसदों की बात की जाए तो इसमें सबसे ज्यादा सांसद महाराष्ट्र से हैं। इसमें एनसीपी की सुप्रीया सूले का नाम सबसे ऊपर है। सुप्रीया सूले ने 568 सवाल सरकार से पूछे हैं, जो सबसे ज्यादा है। AIMIM चीफएसदुद्दीन ओवैसी ने 448 सवाल पूछे हैं। बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने 254 सवाल पूछे।

पूर्व केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी से सबसे ज्यादा सवाल पूछे गए। उनके मानव संसाधन मंत्री रहते 2271 सवालों के जवाब दिये गए। रेल मंत्रालय ने 2249 सवालों के जवाब दिये, वित्त मंत्रालय ने 1843 और गृह मंत्रालय ने 1748 सवालों के जवाब दिये।
-16th Lok Sabha

Loading...

Leave a Reply