रेलवे का निजीकरण कोई नहीं कर सकता, ये असंभव है-पीयूष गोयल

नई दिल्ली:  विपक्ष की तरफ से रेलवे के निजीकरण की बातों को सिरे से खारिज करते हुए रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि रेलवे के निजीकरण की सरकार की कोई योजना नहीं है, ना ही रोई रेलवे का निजीकरण कर सकता और इसके निजीकरण का कोई मतलब भी नहीं है। उन्होंने कहा कि केवल राजनीतिक लाभ के लिए नई ट्रेनों का सपना दिखाने के बजाय नरेंद्र मोदी सरकार ने सुविधाएं और निवेश बढ़ाने के लिए पीपीपी आमंत्रित करने का इरादा किया है।

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने रेलवे के निजीकरण को खारिज करते हुए कहा मैं बार बार कह चुका हूं कि रेलवे का निजीकरण नहीं किया जाएगा। लेकिन कोई सुविधा बढ़ाने की बात करे, नई टेक्नॉलोजी लाने की बात करे, कोई नया स्टेशन बनाने की बात करे तो इसके लिए निवेश आमंत्रित किया जाना चाहिए। गोयल ने कहा रेलवे में सुविधा बढ़ाने गांव और देश के विभिन्न हिस्सों को रेल संपर्क से जोड़ने के लिए बड़े निवेश की जरुरत है। अच्छी सुविधा, हाई स्पीड आदि के लिए पीपीपी यानि पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप को प्रोत्साहित करने का सरकार ने फैसला लिया है।

गुरुवार को विपक्ष की तरफ से टीएमसी, कांग्रेस, डीएमके समेत दूसरे राजनीतिक दलों ने आरोप लगाया था कि आम बजट में रेलवे में पीपीपी, निगमीकरण और विनिवेश पर जोर देने की आड़ में इसे निजीकरण के रास्ते पर ले जाया जा रहा है। विपक्ष ने सरकार को घेरते हुए कहा कि सरकार को बड़े वादे करने की बजाय रेलवे की वित्तीय स्थिति सुधारने और सुविधा, सुरक्षा और सामाजिक जवाबदेही का निर्वहन सुनिश्चित करना चाहिए।

(Visited 21 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *