‘DGMO ने जो कह दिया वो काफी है नहीं चाहिए सबूत’ विरोध बढ़ा तो घबराए नेता !

दिल्ली: सोमवार को एक वीडियो संदेश जारी किया गया। जिसमें 28 सितंबर को हुए सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत दिखाने की मांग की गई थी। इस विडियो संदेश के डायरेक्टर और एक्टर दिल्ली के सीएम और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल थे। चंद मिनटों की अपनी जो सीडी अरविंद केजरीवाल ने जारी की थी उसनें उन्हें पाकिस्तान का हीरो बना दिया।

केजरीवाल पाकिस्तान में अखबारों, पाकिस्तानी चैनलों के हीरो बने तो भारत में सर्जिल स्ट्राइक के सबूत मांगने का एक चलन शुरु हो गया। मंगलवार को कांग्रेस के नेता एक के बाद एक बाहर निकले और सरकार से सबूत दिखाने की मांग कर दी। संजय निरूपम ने सर्जिकल स्ट्राइक को फर्जी बताया तो दिग्विजय सिंह ने सबूत की मांग की। कांग्रेस प्रवक्ता सुरजेवाला ने भी वही बात कही जो निरुपम और दिग्विजय सिंह कह चुके थे। लेकिन शब्दों के अलंकरण में थोड़ा बदलाव कर दिया।

रणदीप सुरजेवाल ने कहा सरकार को देश की सुरक्षा, सेना की रणनीति को ध्यान में रखते हुए जरुरत के मुताबिक सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत सार्वजनिक कर देने चाहिए। सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत इस तरह से मांगे जा रहे थे जैसे कि भंडारा का प्रसाद हो। इसकी प्रतिक्रिया भी होनी थी। सो हुई भी। क्योंकि मोदी सरकार और सेना ने जिस तरह का सामंजस्य दिखाया था उसका पूरे देश में स्वागत किया था।

दिल्ली में केजरीवाल के मंत्री सतेंद्र जैन पर जूती फेंकी गई, सबूत मांगने के सूत्रधार सीएम अरविंद केजरीवाल पर स्याही फेंकी गई, संजय निरुपम का पुतला जलाया गया, पोस्टर पर कांग्रेस हाय-हाय के नारे लिखे गए। कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के खिलाफ लोगों का विरोध तेज हुआ।

इस बीच सरहद पार से सबूत आ गया। एलओसी के पास बसे लोगों ने सर्जिकल स्ट्राइक पर मुहर लगा दी। एक अंग्रेजी अखबार ने एलओसी पर बसे उनलोगों से बात की थी। जिसके आधार पर कहा गया कि सर्जिकल स्ट्राइक का दावा फर्जी नहीं है। भारतीय सेना ने 28 सितंबर की रात एलओसी पार कर पीओके में आतंकियों के लॉन्चिंग पैड पर सर्जिकल स्ट्राइक किया था।

इसके बाद सबूत मांगनेवालों के कलेजे को ठंडक पहुंची। सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत मांगकर सरकार और सेना पर जिस तरह से सवाल उठाए गए थे उसके बाद कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के खिलाफ विरोध भी तेज हो रहा था। लिहाजा बयान में बदलाव किया गया और ये कहा गया कि सबूत की कोई जरुरत नहीं है। डीजीएमओ ने सर्जिकल स्ट्राइक पर जो भी कहा है वो काफी है।

सबूत मांगने की शुरुआत दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने की थी। लेकिन जिस तरह से अपनी इस मांग में घिर गए उसके बाद उन्होंने भी कह दिया कि हमने कभी सबूत मांगा ही नहीं। दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा अरविंद केजरीवाल ने कभी सबूत मांगे ही नहीं।
-News Trend India

Loading...

Leave a Reply