G-20 में मोदी और जिनपिंग के बीच नहीं होगी कोई बातचीत, चीन का झूठ आया सामने

नई दिल्ली:  सिक्किम में जारी सीमा पर तनाव का असर दोनों नेताओं के बीच जर्मनी में होनेवाली मुलाकात पर भी पड़ा है। खबर थी G-20 की बैठक के दौरान अलग से पीएम मोदी और चीन के शी जनपिंग के बीच किसी तरह की मुलाकात नहीं होगी। दरअसल इसके लिए कोई कार्यक्रम तय ही नहीं किया गया था। सूत्रों के हवाले से ये खबर आई है कि भारत  सरकार की तरफ से G-20 सम्मेलन में दोनों राष्ट्रध्यक्षों के बीच द्वीपक्षीय वार्ता का कोई प्रस्ताव नहीं रखा गया था। जबकि चीन की तरफ से ये बात फैलाई गई कि उसने जर्मनी में होनेवाले दोनों देशों के बीच के द्वीपक्षीय मुलाकात को रदद् कर दिया।

इसस पहले चीनी मीडिया से मिल रही रिपोर्ट के मुताबिक चीन ने हैंमबर्ग में भारत और चीन के बीच प्रस्तावित द्वीपक्षीय वार्ता रद्द कर दी है। चीन से आई खबरों के मुताबिक चीन ने वार्ता रद्द करते हुए कहा कि मौजूदा हालात को देखते हुए यह मुलाकात संभव नहीं है।

दरअसल जर्मनी के हैंमबर्ग 7 जुलाई से G-20 समिट होनेवाली है। अबतक ऐसा देखा गया था कि इस तरह के सम्मेलनों में भारत-चीन के नेताओं के बीच अलग से भी कुछ देर के लिए मुलाकात होती रही है। हलांकी भरत सरकार के सूत्रों की तरफ से कहा गया है कि दोनों देशों के बीच जर्मनी में द्वीपक्षीय वार्ता का कोई प्रस्ताव नहीं रखा गया था। इसलिए उसके रद्द होने का सवाल ही नहीं उठता है।

Loading...