2019 में मोदी का मुकाबला करने की क्षमता किसी में नहीं-नीतीश कुमर

पटना:  एनडीए में शामिल होने और दोबारा बिहार में सरकार बनाने के बाद सीएम नीतीश कुमार पहली बार मीडिया के सामने आए। नीतीश कुमार में अपनी इस प्रेस कांफ्रेंस में लालू पर भी निशाना साधा। साथ ही उन्होंने उन परिस्थितियों का भी जिक्र किया जिसकी वजह से उन्हें गठबंधन तोड़ना पड़ा। साथ ही नीतीश ने 2019 के लिए मोदी के खिलाफ तैयार होने वाले महागठबंधन पर ये कहते हुए हमला किया कि 2019 में मोदी का मुकाबला करने की क्षमता किसी में नहीं है।

नीतीश ने कहा लालू तेजस्वी यादव पर कुछ नहीं बोले। स्वयं लालू यादव की तरफ से भी बात स्पष्टता के साथ नहीं कही गई। उन्होंने कहा जिस तरह की दलील और कथित सफाई तेजस्वी दे रहे थे उससे पार्टी के कार्यकर्ता तो संतुष्ट हो सकते थे लेकिन आम जनता नहीं। नीतीश कुमार ने गठबंधन तोड़ने के फैसले को बिहार के हित में लिया गया फैसला बताया।

सीएम ने कहा सीबीआई की छापेमारी के बाद कई बार लालू यादव को मैंने फोन किया। लेकिन लालू यादव की तरफ से ये लिखा गया कि बीजेपी को नया दोस्त मुबारक हो। इसका पार्टी कार्यकर्ताओं और जनता में गलत संदेश गया।

खटास बढ़ने के बाद हुई कैबिनेट मीटिंग का जिक्र करते हुए नीतीश कुमार ने कहा कैबिनेट मीटिंग के बाद तेजस्वी मुझसे मिले थे। तेजस्वी ने मुझसे पूछा कि आप ही बता दीजिये मैं क्या सफाई दूं। मैंने उनसे तथ्यों के साथ सफाई देने के लिए कहा। लेकिन जिस तरह से खुद के नाबालिग होने की बात उन्होंने कही उससे मुझे लगा कि उनके पास स्पष्टीकरण देने के लिए कुछ है ही नहीं।

लालू पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा लालू को बताना चाहिए कि वोट हासिल करने के लिए वो सेक्यूलरिज्म की बात करते हैं या बेनामी संपत्ति जमा करने के लिए। सेक्यूलरिज्म के नाम पर बेनामी संपत्ति जमा करना और धन कमाना मैं बर्दाश्त नहीं कर सकता। महागठबंधन केवल एक परिवार की सेवा के लिए नहीं किया गया था।

Loading...

Leave a Reply