दिल्ली में MCD चुनाव में केजरीवाल को हराएंगे नीतीश कुमार?

दिल्ली में MCD चुनाव में केजरीवाल को हराएंगे नीतीश कुमार?

नई दिल्ली: दिल्ली में MCD चुनाव में बस कुछ ही दिन बचे हैं। राजनीतिक पार्टियों की लड़ाई चरम पर है। आम आदमी पार्टी के लिए इस चुनाव में जीत हासिल करना बेहद जरुरी है। क्योंकि MCD चुनाव आम आदमी पार्टी की साख का सवाल है। ऐसा इसलिए क्योंकि दिल्ली के बाहर पार्टी को कहीं भी कामयाबी नहीं मिली है। ऐसे में दिल्ली में जीत दर्ज करना बेहद आवश्यक है क्योंकि इसी दिल्ली में पार्टी का जन्म भी हुआ था और जन्म स्थान का जनाधार कायम रखना पार्टी के लिए चुनौती है।

अबतक केजरीवाल बीजेपी और कांग्रेस के साथ लड़ाई लड़ रहे थे। लेकिन अब उन्हें अपने पुराने मित्र के खिलाफ भी लड़ाई लड़नी है। ये वही मित्र हैं जिनसे कुछ दिन पहले तक उनकी करीबी चर्चा में थी। यहां बात बिहार के सीएम और जेडीयू के अध्यक्ष नीतीश कुमार की हो रही है।

ये भी पढें :

– ऑस्ट्रेलिया के पीएम के साथ पीएम मोदी ने मेट्रो में किया सफर, अक्षरधम मंदिर के दर्शन किये

नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू ने इसबार अपने 101 उम्मीदवार MCD चुनाव में उतारे हैं। जेडीयू उम्मीदवार सबसे ज्यादा चुनौती आम आदमी पार्टी के लिए हैं। क्योंकि AAP का जनाधार और जेडीयू का जनाधार काफी मिलता जुलता है। या यूं कहें एक ही है। विधानसभा चुनाव में AAP को पूर्वांचल वोटरों ने खूब वोट दिया था। दिल्ली में पूर्वांटल वोटरों की तादाद तकरीबन 40 लाख है। उन्हीं के बलबूते AAP को पहली बार 28 और दूसरी बार 67 सीट मिली थी।

लेकिन इसबार केजरीवाल के पुराने मित्र ने ही उनके सामने नई परेशानी खड़ी कर दी है। क्योंकि जेडीयू दिल्ली में पूर्वांचल वोटरों पर डोरे डाल रही है।

अबतक केजरीवाल भी इसी वोटबैंक को अपने साथ करने की कोशिश में जुटे थे। अब सवाल ये खड़ा होता है कि दिल्ली में रहनेवाले बिहार के वोटर किस तरफ जाते हैं। पूर्वांटल वोटरों के कर्मस्थली से जुड़ी केजरीवाल की AAP की तरफ या उस पार्टी की तरफ जो उन वोटरों के जन्म स्थान से जुड़ी है।

Loading...

Leave a Reply