मीटिंग से क्या होगा, प्रदूषण कम करने के लिए अबतक क्या किया गया? –NGT

नई दिल्ली: दिल्ली-एनसीआर में खतरनाक स्तर पर पहुंचे प्रदूषण पर नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल यानि NGT ने केंद्र सरकार और दिल्ली की केजरीवाल सरकार को फटकार लगाई है। NGT ने कहा कि दोनों सरकारें अपना काम नहीं कर रही हैं। दिल्ली सरकार का कहना था कि प्रदूषण पर गुरुवार को दो मीटिंग की गई है। इसपर NGT ने कहा आप 20 मीटिंग कर लीजिये उससे क्या फर्क पड़ेगा। आप कोई एक काम बताइये जिसे आपने प्रदूषण को कम करने के लिए किया हो।

दिल्ली सरकार ने अपनी दलील में कहा कि पड़ोसी राज्यों में पराली को जलाना प्रदूषण की मुख्य वजह है। इसपर NGT का कहना था कि पराली जलाने के आलावे भी दिल्ली में प्रदूषण बढ़ने की कई वजह है। NGT ने कहा 10 साल पुरानी डीजल गाड़ियों को अबतक नहीं हटाया गया। हम अपने बच्चों और नौनिहालों को क्या दे रहे हैं? प्रदूषण! जो उनके लिए जानलेवा है। हमें सोचना होगा।

NGT ने कहा हमने खुद देखा है साउथ दिल्ली के कई इलाकों में बिल्डर्स कंस्ट्रक्शन के दौरान नियमों की अनदेखी कर रहे हैं। उन्हें रोकनेवाला कोई नहीं है। कंस्ट्रक्शन के दौरान उड़नेवाला धूल प्रदूषण की मुख्य वजह है। धूलकण, प्लास्टिक को जलाना और कूड़े को जलाने को लेकर सभी एजेंसियां क्या कर रही है।

NGT ने यूपी, हरियाणा, पंजाब, राजस्थान और दिल्ली के पर्यावरण सचिव को तलब किया और उनसे सनिश्चित करने के लिए कहा कि प्रदूषण को कैसे कम करना है। NGT ने इन सभी राज्यों से 8 नवंबर तक रिपोर्ट सौंपने को कहा है।

Loading...

Leave a Reply