NGT ने दिया 10 साल से ज्यादा पुरानी डीजल गाड़ियों को हटाने का फॉर्मूला

नेशनल ग्रीन ट्रीब्यूनल यानि NGT ने दिल्ली से 10 साल से ज्यादा पुरानी डीजल गाड़ियों को हटाने के लिए एक फॉर्मूला जारी कर दिया है। NGT ने सबसे पहले तो साफ किया है कि उसका आदेश तुरंत प्रभाव से लागू किया जाएगा। भले ही इसे लागू करने के बाद कैसे भी हालात क्यों नहीं बनें। लेकिन इसे लागू किया जाना है। इसके लिए NGT ने 10-15 साल पुरानी डीजल गाड़ियों को हटाने के लिए फॉर्मूला बताया है। जिसके मुताबिक पहले 15 साल फिर 14 साल, 13 साल, 12 साल, 11 साल और फिर 10 साल पुरानी डीजल गाड़ियां हटाई जाएंगी। NGT ने अपने आदेश में ये भी साफ कर दिया है कि BS 1 और BS2 मानक वाली गाड़ियां भी अगर 15 साल पुरानी हैं तो उनके रजिस्ट्रेशन भी रद्द होंगे। यानि BS 1 और BS2 मानक वाली गाड़ियों को भी 15 साल पुराना होने पर एनओसी नहीं दी जाएगी।

NGT चरणबद्ध तरीके से 10 से 15 पुरानी डीजल गाड़ियों को हटाने की बात कही है। इससे उन गाड़ियों के मालिक को थोड़ी राहत जरुर मिली है जिनकी गाड़ी 10 साल या 12 साल पुरानी है। क्योंकि उनका नंबर तब आएगा जब 15 साल या 13 साल पुरानी डीजल गाड़ियां पूरी तरह से हटा दी जाएंगी।

सुप्रीम कोर्ट पहले ही आदेश जारी कर चुका है जिसके मुताबिक 10 से पुरानी गाड़ियों को पहले एनओसी लेनी होगी फिर उसे दूसरे राज्यों में बेचा जा सकेगा। वहीं ट्रांसपोर्टर्स का मानना है कि भले ही NGT चरणबद्ध तरीके से पुरानी डीजल गाड़ियों को हटाने के सुझाव दे रहा हो लेकिन इससे तकरीबन 5 लाख ट्रांसपोर्टर्स का परिवार प्रभावित होगा।

Loading...

Leave a Reply