दिल्ली में 10 साल से पुरानी डीजल गाड़ियों के रद्द होंगे लाइसेंस, NGT का आदेश

दिल्ली में 10 साल से पुरानी डीजल गाड़ियों के सड़क पर दौड़ने के दिन खत्म हो रहे हैं। दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण के देखते हुए NGT ने दिल्ली आरटीओ को 10 साल से पुरानी डीजल गाड़ियों का रजिस्ट्रेशन रद्द करने का आदेश दिया है। NGT ने कहा है कि इसपर तत्काल कार्रवाई शुरु हो। साथ ही जिन गाड़ियों का रजिस्ट्रेशन रद्द हो उसकी लिस्ट दिल्ली ट्रैफिक पुलिस को भी सौंपी जाए। ताकि उन गाड़ियों को चलाने पर उनके खिलाफ कार्रवाई की जा सके। इस मामले की अगली सुनवाई 20 जुलाई को होगी।

NGT की तरफ से आदेश जारी होने के बाद अब आरटीओ इस बारे में एक पब्लिक नोटिस जारी करेगा। हलांकी इस आदेश में ट्रकों को कुछ वक्त के लिए राहत दी गई है।

कूड़ा जलाने और धूल की वजह से होनेवाले प्रदूषण पर भी रोक लगाने का निर्देश दिया गया था। NGT ने उस निर्देश पर भी सवाल पूछे हैं कि उस निर्देश का क्या हुआ। उसपर संबंधित विभाग से अलग अलग स्टेटस रिपोर्ट सौंपने को कहा गया।

दरअसल दिल्ली में प्रदूषण की समस्या एक विकराल रुप लेती जा रही है। प्रदूषण की वजह से बच्चे से लेकर बुजुर्ग तक तरह तरह की बीमारी का शिकार हो रहे हैं। कई बच्चे छोटी उम्र में ही गंभीर बीमारी से ग्रसित हो रहे हैं। प्रदूषण की इस समस्या को लेकर दिल्ली सरकार ने ऑड-इवन फॉर्मूला भी लाया था। ऑड इवन का अबतक दो दौर हो चुका है। लेकिन उस दौरान भी प्रदूषण के स्तर में कुछ खास सुधार नहीं देखा गया। NGT का मानना है कि प्रदूषण की वजह पुरानी डीजल गाड़ियां भी हैं। जो आम गाड़ियों के मुकाबले कई गुणा ज्यादा प्रदूणष फैलाती हैं। इसी के बाद NGT ने दिल्ली की सड़कों से 10 साल से ज्यादा पुरानी डीजल गाड़ियों के चलने पर पाबंदी लगाने का फैसला लिया था।

Loading...