BCCI ने खड़े किये हाथ, कहा ‘इंग्लैंड के साथ टेस्ट सीरीज के लिए नहीं हैं पैसे!’

नई दिल्ली: दुनिया की सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड BCCI को अब पैसों की किल्लत हो गई है। गुरुवार को बोर्ड की तरफ से एक चिट्ठी जारी की गई। उसे पढ़ने के बाद यही संकेत मिल रहे हैं कि बोर्ड के पास 9 नवंबर से इंग्लैंड के साथ शुरु होनेवाले टेस्ट सीरीज को करा पाने लायक भी पैसे नहीं हैं। भारत- इंग्लैंड के बीच 5 टेस्ट मैचों की सीरीज खेली जानी है।

BCCI ने इंग्लैंड ऐंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड यानि ECB के ऑपरेशनल मैनेजर फिल नील को खत लिखकर इस बारे में जानकारी दी। जिसमें लिखा गया है कि सुप्रीम कोर्ट की तरफ से बोर्ड पर लगाई गई पाबंदियों की वजह से मेहमान टीम को पूर्व निर्धारित सुविधाएं नहीं दी जा सकतीं हैं।

BCCI के सचिव अजस शिर्के ने गुरुवार को फिल नील को चिट्टी लिखी थी। चिट्टी में इंग्लैंड की टीम का इस सीरीज के लिए स्वागत किया लेकिन उसमें आगे लिखा गया था कि ‘BCCI फिलहाल भारतीय क्रिकेट बोर्ड और ECB के बीच MOU को लागू करने की स्थिति में नहीं है। ऐसी स्थिति BCCI पर लगाए गए प्रतिबंधों के कारण उत्पन्न हुई है। सुप्रीम कोर्ट ने बोर्ड के वित्तीय लेनदेन पर नजर रखने के लिए एक कमेटी का गठन किया है। BCCI ने 28 अक्टूबर को कमेटी के सामने यह मुद्दा रखा है और उनसे MOU को लागू करने की इजाजत देने को कहा है। हलांकी कमेटी ने अभी तक इसकी इजाजत नहीं दी है।‘

शिर्के के कहाना है ‘इंग्लैंड टीम के खिलाड़ियों को होटल, यात्रा और कुछ दूसरी सुविधा दे दी गई है। लेकिन MOU लागू होने तक BCCI इसका भुगतान करने का वादा नहीं कर सकती। इसलिए इन सुविधाओं का भुगतान करने का बंदोबस्त करें। लोढ़ा कमेटी का निर्देश मिलने के बाद BCCI आपको आगे की जानकारी देगी। मैं BCCI की तरफ आपको होनेवाले कष्ट के लिए माफी मांगता हूं।‘

दरअसल विदेशी टीम के भारत आने पर उसके रहने,खाने, यात्रा करने के साथ साथ दूसरे सारे खर्च BCCI ही करती है। लेकिन आज हालात बदल गए हैं।

Loading...

Leave a Reply