ECL हादसा- मजदूरों के लिए मुआवजा और दोषियों पर कार्रवाई के लिए कांग्रेस का धरना

गोड्डा/झारखंड: गोड्डा के ललमटिया में ECL में हुए खदान हादसे पर सियासत भी तेज हो गई है। कांग्रेस ने इसके लिए राज्य सरकार को जिम्मेदाव ठहराया है। कांग्रेस की जिला अध्यक्ष दीपिका पांडे सिंह ने कहा कि राज्य सरकार और माफियाओं की मिलीभगत की वजह से ये हादसा हुआ। उन्होंने ECL प्रबंधन पर दोषियों को बचाने का भी आरोप लगाया।

हादसे के बाद मौके पर पहुंची जिला कांग्रेस अध्यक्ष दीपिका पांडे सिंह ने हादसे में मारे गए मजदूरों के लिए मुआवजे की मांग की है। उनका कहना है कि हादसे वाले जगह का निरीक्षण करने के बाद पाया गया कि वहां पर आपदा प्रबंधन के काम को सही तरीके से नहीं चलाया गया। निरीक्षण करने के बाद वहां पर हो रहे रेस्क्यू ऑपरेशन पर असंतोष जाहिर करते हुए जिला कांग्रेस कमेटी ने जीरो प्वाइंट पर धरना शुरु कर दिया।

उनकी मांग थी कि राहत और बचाव के काम में तेजी लाई जाए और मृतकों के परिजनों को जल्द और उचित मुआवजा दिया जाए। पीड़ितों के लिए प्रबंधन और प्राइवेट ठेका कंपनी महालक्ष्मी की तरफ से क्या मुआवजा राशि रखी गई है इसकी जानकारी दी जाए। साथ ही उन्होंने मांग की है कि गुरुवार को जो मजदूर सेकेंड सिफ्ट में ड्यीटी पर आए थे उनकी हाजिरी भी दिखाई जाए।

कांग्रेस की तरफ से मांग की गई है कि मजदूरों के परिजनों के लिए मुआवजे का एलान जल्द से जल्द किया जाए। जबतक मजदूरों के लिए सही मुआवजा राशि का एलान नहीं किया जाता है तबतक ये आंदोलन जारी रहेगा। हादसे वाली जगह से अबतक 7 मजदूरों के शव निकाले जा चुके हैं। लेकिन अभी भी कई मजदूरों के भीतर दबे होने की आशंका है।

Loading...

Leave a Reply