नौ सेना के ‘पश्चिम लहर’ से उड़ी पाकिस्तान की नींद

नई दिल्ली: LOC और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तान जिस तरह की हरकत कर रहा है उसके बाद भारत अपनी तैयारियां पुख्ता करने में जुट गया है। समुद्र, हवा और जमीन पर हर तरह की चुनौती से निपटने के लिए जल, थल और वायु सेना अपनी तैयारियों को जांच रही हैं। ताकि किसी भी तरह के पाकिस्तानी दुस्साहस का मुंहतोड़ जवाब दिया जा सके।

इसी तैयारी की कड़ी है नौ सेना का ‘पश्चिम लहर’। जिस एक्सर्साइज के तहत नौ सेना अपनी तैयारियों को परखेगी। पश्चिमी समुद्र तट पर इस सैन्य अभ्यास के लिए 40 से ज्यादा जंगी बेड़े और पनडुब्बी के अलावे, फाइटर जेट, टोही विमान और ड्रोन इकट्ठा होने शुरु हो गए हैं। सेना के विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक नौसेना के इस अभ्यास में पूर्व समुद्री सीमा में तैनात जहाज को भी शामिल किया गया है।

‘पश्चिम लहर’ एक्सर्साइज पहले किये गए डिफेंस ऑफ गुजरात का ही विस्तार है। इसका मकसद ऑपरेशनल तैयारियों के अलावा पानी के रास्ते होनेवाले आतंकी हरकतों और घुसपैठ से निपटने के तैयारी को दुरुस्त करना है। जानकारी के मुताबिक ये अभ्यास 2 से 14 नवंबर तक चलेगा।

Loading...