काला धन को सफेद करने वाला इनकम टैक्स संशोधन बिल लोकसभा में पेश




नई दिल्ली: वित्त मंत्री अरुण जेटली ने लोकसभा में इनकम टैक्स संशोधन बिल पेश कर दिया है। इस बिल के पेश होने के बाद अब नोटबंदी के बाद बैंकों में जमा हुई अघोषित आय पर टैक्स वसूला जाएगा। जिसके मुताबिक नोटबंदी के एलान के बाद बैंकों में जमा की गई अघोषित आय पर 30 फीसदी टैक्स, 10 फीसदी पेनल्टी और 33 फीसदी सरचार्ज वसूला जाएगा। सरचार्ज कुल टैक्स पर वसूला जाएगा। जो 13 फीसदी के करीब होगा। इस सरचार्ज को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण सेस का नाम दिया गया है।

लेकिन अगर कोई व्यक्ति अघोषित आय के बारे में खुद नहीं बताता है और इनकम टैक्स विभाग उसे पकड़ता है तो उसे 75 फीसदी टैक्स और 10 फीसदी पेनल्टी लगेगी।

इस इनकम टैक्स संशोधन बिल के पेश होने के बाद अब ढाई लाख से ज्यादा की अघोषित आय के 25 फीसदी हिस्से को सरकार गरीब कल्याण योजना फंड में जमा किया जाएगा। सरकार ने अघोषित आय पर 75 फीसदी टैक्स लगाने का फैसला लिया है। जबकि बाकी बचे 25 फीसदी रकम को निकाला जा सकता है। गरीब कल्याण योजना के तहत घर, सिंचाई और शौचालय में खर्च किया जाएगा।

सरकार का यह संशोधन बिल उन लोगों के लिए एक अवसर है जिन्होंने बेहिसाब संपत्ति जमा कर रखी है। अगर वो 1 करोड़ रुपया बैंक में जमा करते हैं तो इसपर 50 फीसदी टैक्स के रुप में देना होगा। जबकि बाकी बचे 50 फीसदी में से 25 फीसदी रकम को वो 4 साल तक नहीं निकाल सकेंगे। और ना ही बैंक इसपर किसी तरह का ब्याज देगा। लेकिन अगर वो जमा रकम के बारे में आयकर विभाग को खुद जानकारी नहीं देते हैं और आयकर विभाग इसका पता लगाता है तो इसमें से 85 फीसदी रकम टैक्स के रुप में ले लिया जाएगा।

Loading...

Leave a Reply