गोड्डा में दिखा नोटबंदी के खिलाफ सड़क पर कांग्रेस का जन आक्रोश

गोड्डा/झारखंड: केंद्र सरकार के नोटबंदी के खिलाफ विपक्ष ने 28 नवंबर को जन आक्रोश दिवस के रुप में मनाने का फैसला लिया। कांग्रेस का आरोप है कि नोटबंदी कर केंद्र सरकार ने गरीब जनता के साथ विश्वासघात किया है। इस मुद्दे को लेकर गोड्डा में कांग्रेस नेताओं ने जन आक्रोश मार्च निकाला।

कांग्रेस की इस जन आक्रोश मार्च की अगुवाई जिला कांग्रेस अध्यक्ष दीपिका पांडे सिंह ने की। जिसमें केंद्र सरकार पर ये आरोप लगाए गए कि नोटबंदी के फैसले से गरीब परेशान है। उन्होंने कहा कि अहंकार में डूबी सरकार के ये एहसास होना चाहिए कि उनकी तानाशाही नहीं चलेगी। जनता इसका जवाब देगी। इस जन आक्रोश मार्च में कांग्रेस के कई नेता मौजूद थे।

केंद्र सरकार के फैसले के खिलाफ विपक्ष की लामबंदी ने सरकार के सामने मुश्किल खड़ी कर दी है। हंगामे की वजह से सदन में अबतक कामकाज नहीं हो सका है। विपक्ष प्रधानमंत्री से सदन में बयान की मांग कर रहा है। वहीं सरकार का कहना है कि हम चर्चा के लिए तैयार हैं। कांग्रेस का ये भी आरोप है कि नोटबंदी को बिना किसी तैयारी के लागू किया गया। 8 नवंबर को जब नोटबंदी को लागू करने का एलान किया गया उसके बाद से कई बार इसके नियमों में बदलाव हो चुके हैं। जो यह बताता है कि इसे लागू करने से पहले तैयारी नहीं की गई। सरकार की इस अधूरी तैयारी का खामियाजा जनता को भुगतना पड़ रहा है।

Loading...

Leave a Reply