सुप्रीम कोर्ट ने Unitech बिल्डर को 38 खरीदारों के 17 करोड़ लौटाने के निर्देश दिये

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट से एक और बिल्डर को झटका लगा है। अब सुप्रीम कोर्ट ने Unitech को 38 निवेशकों के 17 करोड़ रुपये वापस करने के निर्देश दिये हैं। ये मामला गुड़गांव में चल रहे Unitech के प्रोजेक्ट विस्टा से जुड़ा है। जहां निवेशकों को 2012 में ही फ्लैट मिलने थे लेकिन अबतक नहीं पजेशन नहीं दिया गया है।

Unitech बिल्डर ने फ्लैट खरीदारों को 2017 तक फ्लैट देने का भरोसा दिया था। लेकिन खरीदारों ने इसे मानने से इनकार कर दिया। जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने Unitech को खरीदारों के 17 करोड़ रुपया वापस करने के निर्देश दिये हैं। इनमें से Unitech 15 करोड़ पहले ही जमा करवा चुका है। बाकी के 2 करोड़ रुपये उसे 4 हफ्तों में जमा करवाने के निर्देश दिये गये हैं।

बिल्डर की तरफ से जो 17 करोड़ रुपये जमा करवाए जाएंगे उसी में से खरीदारों को उनके पैसे वापस किये जाएंगे। दरअसल Unitech ने राष्ट्रीय उपभोक्ता निवारण आयोग यानि NCDRC के 2015 के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई थी। NCDRC ने गुड़गांव के सेक्टर 70 में चल रहे Unitech के विस्टा प्रोजेक्ट के 38 ग्राहकों को ब्याज समेत पूरा पैसा वापस करने का आदेश दिया था।

आयोग में ग्राहकों ने कहा था कि गुड़गांव के सेक्टर 70 में Unitech का विस्टा प्रोजेक्ट 2008 में लॉन्च हुआ था। उस वक्त बिल्डर ने 2012 में फ्लैट देने का वादा किया था। लेकिन कंपनी ने अबतक उन्हें प्लैट का पजेशन नहीं दिया।

इससे पहले मंगलवार को भी एक और बिल्डर पर्श्वनाथ बिल्डर को भी सुप्रीम कोर्ट के झटका लगा था। पार्श्वनाथ बिल्डर को निवेशकों के 22 करोड़ रुपये लौटाने का आदेश दिया था।

Loading...

Leave a Reply