अखिलेश नहीं होंगे CM कैंडिडेट, चुनाव के बाद SP तय करेगी अगले CM का नाम

लखनऊ: अखिलेश यादव मौजूदा वक्त में उत्तर प्रदेश के सीएम हैं। लेकिन ये जरुरी नहीं कि 2017 के चुनाव में समाजवादी पार्टी के जीत जाने के बाद वो फिर से सीएम बनेंगे ही। क्योंकि समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने साफ कर दिया है कि चुनाव बाद ये तय होगा कि अगला सीएम किसे बनाया जाए। चुनाव के बाद पार्टी के विधायक अपने नेता का चुनाव करेंगे।

मुलायम सिंह यादव के इस बयान का मतलब ये भी है कि समाजवादी पार्टी यूपी में बगैर सीएम कैंडिडेट प्रोजेक्ट किये चुनाव लड़ेगी। अगर चुनाव में जीत मिल गई तो नतीजे आने के बाद ये तय किया जाएगा कि किसे सीएम बनाया जाए। यानि कुल मिलाकर अखिलेश को एक कदम और पीछे कर दिया गया है।

अखिलेश को दरकिनार करने की शुरुआत तभी हो गई थी जब मुलायम ने अपने भाई और अखिलेश के चचा शिवपाल यादव को समाजवादी पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष बनाया था। उनसे पहले अखिलेश यादव ही पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष हुआ करते थे। उस वक्त पार्टी में जो बदलाव किया गया था उसका मतलब अब समझ में आ रहा है। अखिलेश को पार्टी से अलग कर केवल सीएम बनाकर रखा गया।

यानि पार्टी में जो भी फैसले लिये जाएंगे वो चचा शिवपाल खुद लेंगे। उसमें अखिलेश यादव का कोई दखल नहीं होगा। इसकी एक वजह ये भी है कि मुलायम सिंह यादव को अखिलेश पर सियासी मामलों में भरोसा नहीं रहा है। क्योंकि महीने भर पहले जब चचा-भतीजा के बीच तलवार खिंच गई थी तब मुलायम ने कहा था कि 2014 लोकसभा चुनाव में अखिलेश ने जो कहा वो किया। नतीजा क्या हुआ। पार्टी पांच सीटों पर सिमट गई।

जाहिर है इसी वजह से अखिलेश को पहले प्रदेश अध्यक्ष के पद से हटाया गया। और उसके बाद अब ये फैसला लिया गया है कि चुनाव से पहले सीएम कैंडिडेट के नाम का एलान नहीं किया जाएगा। अखिलेश ने अपने एक इंटर्व्यू में भी इस संभावना को जाहिर किया था कि उसे कुछ वक्त के लिए अलग थलग किया जा सकता है लेकिन पराजित नहीं किया जा सकता।

मुलायम ने जो बात शुक्रवार को कही उसका एहसास अखिलेश को भी रहा होगा। क्योंकि एक अंग्रेजी अखबार को दिये इंटर्व्यू में अखिलेश बता चुके थे कि बचपन में उन्हें अपना नाम खुद ही रखना पड़ा था। उसी तरह लगता है चुनाव प्रचार भी बिना किसी का इंतजार किये खुद ही शुरु करना पड़ेगा।

अखिलेश के इस जावाब पर जब मुलायम सिंह से सवाल किया गया तो उनका जवाब था कि बचपन में अखिलेश पर ज्यादा ध्यान नहीं दे सका। पत्नी ही बच्चों को ज्यादा वक्त देती थी। नाम खुद रखने के मुद्दे पर मुलायम ने कहा कि हमारे घर में कई बच्चों ने अपना नाम खुद रखा है।

Loading...

Leave a Reply