एक शख्स ने कश्मीर के हालात को विस्फोटक बना दिया, जानिये कौन है वो?

दिल्ली: जुलाई के महीने में कश्मीर में हिजबुल के आतंकी बुरहान वानी को सुरक्षाबलों ने एनकाउंटर में मार गिराया। उसके बाद से कश्मीर में हालात तनावपूर्ण बन गए। पूरे कश्मीर में कर्फ्यू लगा दिये गए। बीच बीच में कर्फ्यू में ढील देने की कोशिश की गई। लेकिन हिंसा दोबारा भड़क उठी। जिसके बाद फिर कर्फ्यू लगा दिया गया।

हालात इस कदर विस्फोटक हो गए कि बुरहान वानी के बाद हुई हिंसा में 70 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। ये वो लोग थे जिन्होंने सुरक्षाबलों को निशाना बनाया उनपर जानलेवा हमला किया। जिसके जवाब में सुरक्षाबलों ने कार्रावाई की। और ये मारे गए। हालात को सामान्य बनाने में कई सुरक्षाबलों को भी अपनी जान गंवानी पड़ी, तो कई घायल हो गए। लेकिन इतने के बावजूद हालात सामान्य नहीं हो सके हैं।

घाटी में कर्फ्यू लगे 98 दिन हो चुके हैं। हालात जब सामान्य नहीं हुए तो वहां 12 साल के बाद दोबारा बीएसएफ की तैनाती की गई। लेकिन हालात आज भी विस्फोटक बने हुए हैं। लेकिन कश्मीर में बने इस विस्फोटक हालात के गुनहगार को ढूंढ निकाला गया है। कश्मीर में तैनात एक डीएसपी को घाटी में हुई हिंसा और सुरक्षाबलों की तैनाती की खबर पाकिस्तानी एजेंट तक पहुंचाने के आरोप में सस्पेंड कर दिया गया है।

डीएसपी तनवीर अहमद पर काफी वक्त से पाकिस्तानी एजेंट के लिए काम करने का शक था। जिसके बाद उनपर पिछले एक साल से नजर रखी जा रही थी। हिजबुल आतंकी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद से जब कश्मीर में हिंसा फैली तो उससे जुड़ी हर जानकारी पाकिस्तानी एजेंट तक पहुंचाने में डीएसपी तनवीर अहमद अपनी भूमिका निभा रहे थे।

हलांकि डीएसपी तनजीम अहमद ने अपने ऊपर लगे आरोपों को निराधार बताया है। लेकिन जिस तरह से उन्हें सस्पेंड किया गया है और जो आरोप उनपर लगे हैं वो गंभीर हैं। उम्मीद ये जताई जा रही है कि इस खुलासे के बाद अब घाटी में हालात सामान्य बनाने में भी मदद मिलेगी।

Loading...