नोटबंदी पर विपक्ष का BLACK THURSDAY, सरकार बोली ‘जवाब नहीं सुनना चाहता विपक्ष’

नई दिल्ली: नोटबदी लागू किये हुए आज 30 दिन पूरे हो गए। इस मौके पर विरोध जताने के लिए विपक्ष ने आज गुरुवार को ब्लैक डे घोषित किया है। सभी विपक्षी सासंद काली पट्टी बांधकर सदन में आए। संसद की कार्यवाही शुरु होने से पहले सभी विपक्षी सासंदों ने संसद परिसर में मौजूद गांधी मूर्ति के सामने अपना विरोध प्रदर्शन किया।

सांसदों ने हाथों में तख्तियां ले रखी थी। कई तख्तियों में 500 और 1000 रुपये के नोट पर माला पहनाया गया था। राहुल गांधी ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि नोटबंदी का फैसला बोल्ड नहीं बल्कि बेवकूफी भरा फैसला है।विपक्ष के विरोध प्रदर्शन पर केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार ने कहा मीडिया में बने रहने के लिए विपक्ष विरोध कर रहा है।

कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा ‘मोदी पहले 5 दिन, फिर 5 हफ्ते और अब 50 दिन कह रहे हैं। ये ठीक नहीं है। यहां तक कि एक महीना बीतने के बाद भी हालात 50 फीसदी भी बेहतर नहीं हुए हैं। पता नहीं आडवाणी के बयान का सरकार पर कितना असर होता है लेकिन हम चर्चा की कोशिश कर रहे हैं।‘

विपक्ष के काला दिवस पर वेंकैया नायडू ने कहा ये विपक्ष का काला दिवस नहीं काले धन का समर्थन है। उन्होंने कहा विपक्ष जवाब नहीं सुनना चाहता। वेंकैया नायडू ने नोटबंदी को ऐतिहासिक करार देते हुए कहा कि विपक्ष कालेधन का समर्थन कर रहा है।

नोटबंदी पर सरकार और विपक्ष के बीच गतिरोध की वजह से शीतकालीन सत्र में अबतक एक दिन भी कामकाज नहीं हो सका है। विपक्ष नोटबंदी पर चर्चा के साथ साथ वोटिंग भी चाहता है। विपक्ष की एक और भी मांग है कि खुद पीएम सदन में चर्चा के दौरान मौजूद रहें और नोटबंदी पर जवाब भी दें। इसपर सरकार की तरफ से कहा गया है कि हम चर्चा के लिए तैयार हैं और जरुरत पड़ने पर प्रधानमंत्री सदन में जवाब भी देंगे। लेकिन विपक्ष इतने पर तैयार नहीं है।

Loading...

Leave a Reply