अंडमान में भयंकर तूफान के बीच फंसे 1400 पर्यटक, राहत बचाव कार्य जारी

नई दिल्ली: तेज तूफान और भारी बारिश के बीच तकरीबन 1400 पर्यटक अंडमान निकोबार के हैवलॉक द्वीप पर फंसे हैं। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भरोसा दिया है पूरे हालात पर नजर रखी जा रही है और सभी को सकुशल बाहर निकाला जाएगा। राजनाथ सिंह ने कहा अंडमान-निकोबार द्वीप समूह के उपराज्यपाल जगदीश मुखी से बात की है और मुखी ने उन्हें हैवलॉक द्वीप की परिस्थिति से अवगत करवाया है।

गृहमंत्री ने कहा हैवलॉक में फंसे सभी पर्यटक सुरक्षित हैं। उन्हें वापस लाने की तैयारी की जा रही है। अंडमान की राजधानी पोर्ट ब्लेयर में रेस्क्यू टीम तैयार है। और तूफान की तीव्रता कम होते ही सरकार राहत और बचाव का काम शुरु किया जाएगा। नौसेना ने हैवलॉक द्वीप में फंसे पर्यटकों को निकालने के लिए चार पोतों को लगाया है।

दरअसल हैवलॉक द्वीप पर इस मौसम में काफी पर्यटक घूमने जाते हैं। वहां तक पहुंचने के लिए पर्यटक हेलिकॉप्टर या पोत का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन सोमवार को मौसम खराब होने के बाद से इस अभियान को रोक दिया गया। द्वीप की स्थानीय आबादी भी तूफान से बुरी तरह से प्रभावित हुई है। जिससे वहां जरुरी चीजों की आपूर्ति में बाधा आ रही है।

तूफान की वजह से बिजली की आपूर्ति भी बाधित हो गई है। कई जगह नीचले इलाकों में पानी भरने से बाढ़ के हालात बन गए हैं। पर्यटन विभाग ने पर्यटकों की मदद के लिए पोर्ट ब्लेयर और हैवलॉक द्वीप पर हेल्प डेस्क बनाया है।

Loading...

Leave a Reply