टाटा और एयर एशिया कंपनी से हुई आतंकियों को फंडिंग ?

नई दिल्ली: मलेशिया की कंपनी एयर एशिया और टाटा संस के ज्वाइंट वेंचर वाली एयरएशिया इंडिया विवादों में घिर गई है। फर्जी लेनदेने के मामले में प्रवर्तन निदेशालय इसकी जांच कर रहा है। ईडी इस बात की भी जांच कर रहा है कि कंसल्टेंट के लिए जो रकम दी गई क्या उससे आतंकियों को फंडिंग की गई। आतंकी फंडिंग का शक इसलिए जाहिर किया जा रहा है क्योंकि दूसरी कंपनी में काम करने वाले कंसल्टेंट के एक पार्टनर को अमेरिका ने आतंकवादी घोषित किया है।

प्रवर्तन निदेशालन दो और पहलुओं से मामले की जांच कर रहा है। पहला, क्या कंसल्टेंट को फीस दी गई थी या वो रकम सरकारी अफसरों को रिश्वत देने के लिए थी। दूसरा, क्या इस लेन-देन में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के नियमों का उल्लंघन हुआ। कंपनी सवालों में इसलिए घिरी क्योंकि टाटा ग्रुप के पूर्व चेयरमैन साइरस मिस्त्री ने आरोप लगाया था कि एयरलाइंस ने भारत और सिंगापुर में कागजी कंपनियों के जरिये लेनदेन किये थे।

प्रवर्तन निदेशालय ने FEMA के तहत दर्ज मामले में जांच के संबंध में एयर एशिया के एग्जिक्यूटिव्स और कुछ दूसरे लोगों को अगले हफ्ते जरुरी दस्तावेजों के साथ पेश होने और इस मामले की पूरी जानकारी देने लिए समन भेजा है। इस मामले में 22 करोड़ की ट्रांजैक्शन में सिंगापुर की एक कंपनी को दी गई 12 करोड़ की रकम की भी जांच होगी।

टाटा ग्रुप के पूर्व चेयरमैन साइरस मिस्त्री ने अक्टूबर महीने में दावा किया था कि एयर एशिया के साथ टाटा ग्रुप के ज्वाइंट वेंचर में कॉर्पोरेट गवर्नेंस से जुड़ी गड़बड़ियां हुई हैं। उनका कहना था कि फॉरेंसिक जांच में भारत और सिंगापुर में गैर मौजूद एंटिटीज से जुड़ी 22 करोड़ रुपये के फर्जी लेनदेन का खुलासा हुआ था।

24 अक्टूबर को चेयरमैन पद से हटाए जाने के बाद मिस्त्री ने टाटा संस के बोर्ड मेंबर को लिखे खत में कहा था बोर्ड मेंबर्स और ट्रस्टीज को भी इस बात की जानकारी है कि एयर एशिया में कुछ विशेष ट्रांजैक्शन के साथ ही कंपनी की संस्कृति को लेकर नैतिकता से जुड़ी चिंताएं उठाई गई थी। हाल ही में एक फॉरेंसिक जांच में भारत और सिंगापुर में गैर-मौजूद एंटिटीज से जुड़े 22 करोड़ के फर्जी लेन-देन का पता चला था।

मिस्त्री ने दावा किया था कि रतन टाटा ने एशिया एशिया के साथ डील को लेकर बातचीत की थी। उन्होंने कहा टाटा संस के चेयरमैन के तौर पर उनके शुरुआती कार्यकाल में उनसे बोर्ड मीटिंग में एशिया एशिया के साथ ज्वाइंट वेंचर का प्रस्ताव रखने के लिए कहा गया था। गौरतलब है कि एयरएशिया इंडिया में मलेशियाई कंपनी और टाटा संस के पास 49%-49% शेयर हैं जबकि बाकी के 2 % शेयर कंपनी के चेयरमैन एस रामादुरई और डायरेक्टर आर वेंकटरमन के पास हैं।

Loading...

Leave a Reply