सदन चलाने में सरकार और विपक्ष दोनों नाकाम हो गए-आडवाणी

नई दिल्ली: संसद के शीतकालीन सत्र का आधा समय निकल चुका है। सत्र को शुरु हुए 16 दिन हो चुके हैं लेकिन अबतक एक भी दिन सदन में कामकाज नहीं हो सका है। क्योंकि विपक्ष पीएम मोदी से जवाब मांग रहा है और सरकार कह रही है हिम्मत है तो चर्चा करो। इसी गतिरोध के बीच रोजाना सदन की शुरुआत तो होती है लेकिन कुछ घंटों बाद दिनभर के लिए स्थगित करना पड़ता है।

इसे देखते हुए वरिष्ठ बीजेपी नेता और लोकसभा सांसद लाल कृष्ण आडवाणी ने कहा सरकार और विपक्ष दोनों सदन चलाने में कामयाब नहीं हुए। आडवाणी ने अपनी बात केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार से कही। आडवाणी ने सदन चलाने में विपक्ष और सरकार को नाकामयाब बताया तो पीएम मोदी ने संसदीय दल की बैठक में कहा विपक्ष कुछ भी कहे जनशक्ति हमारे साथ है।

सदन में विपक्ष की तरफ से मोर्चा संभालते हुए कांग्रेस के गुलाम नबी आजाद ने कहा देश को लाइन में लगा दिया गया है। नोटबंदी में 84 लोगों की मौत हुई है उसकी जिम्मेदारी कौन लेगा। जवाब में वित्त मंत्री जेटली ने कहा जीरो आवर में केवल टेलीविजन कवरेज के लिए इस मुद्दे को उठाया जाता है और फिर ये कोशिश की जाती है कि सदन में इसपर चर्चा नहीं हो सके।

Loading...