ट्रेनिंग के वायरल वीडियो पर सेना की सफाई, कहा ‘हो चुकी है कार्रावई

armyनई दिल्ली: ट्रेनिंग के दौरान कैडेट्स को बुरी तरह से पीटने का वीडियो जब सोशल साइट्स पर वायरल हुआ तो सेना ने अपने फेसबुक पेज पर सफाई दी है। वीडियो के बारे में सेना ने कहा ‘वीडियो पुराना है और इस संबंध में कार्रवाई की जा चुकी है। अपनी सफाई में सेना ने माना है कि ट्रेनिंग सेंटर में कुछ जवानों ने नियम तोड़े थे। दोषियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जा चुकी है और ऐसा दोबारा न हो सके लिए जरुरी कदम भी उठाए गए हैं।‘

यू-ट्यूब में जो वीडियो अपलोड किया गया है उसके साथ लिखा गया है सेना के जवानों की ट्रेनिंग का हिस्सा है। साथ ही उसमें लिखा गया है कि ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि जवान शारीरिक रुप से मजबूत बनें और उनमें दर्द को बर्दाश्त करने की शक्ति बढ़े।

इसमें साफतौर पर देखा जा सकता है कि एक अधिकारी जो सामने खड़ा है उसने अपने दोनों पैरों के बीच एक कैडेट के गर्दन को दबाकर रखा है। कैडेट्स के दोनों हाथ को अधिकारी अपने जूतों से दबाकर रखता है और बगल में खड़े दो जवान उसके शरीर के पिछले हिस्से में जोर-जोर से छड़ी और रस्सी से वार कर रहे हैं। जिस कैडेट को इस तरह से पीटा जा रहा है वो दर्द से चीखता भी है लेकिन इसके बावजूद उसे पीटा जा रहा है।

वीडियो में कई कैडेट्स ऐसे भी दिखाई दे रहे हैं जो इस पिटाई से बचने के लिए भागने की कोशिश करते हैं। लेकिन उन्हें दोबारा पकड़ा जाता है और फिर उनकी पिटाई की जाती है। पिटाई इतनी जार से की जा रही है कि कई बार छड़ी टूट भी गई लेकिन फिर उसकी जगह पर दूसरी छड़ी लेकर पिटाई की जाती है।

Loading...

Leave a Reply