NDA उम्मीदवार रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति पद के लिए नामांकन भरा

नई दिल्ली:  एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद ने अपना नामांकन पत्र दाखिल कर दिया है। रामनाथ कोविंद ने नामांकन दाखिल करने के बाद कहा समर्थन के लिए मैं सभी का आभारी हूं। हमारे देश में संविधान सर्वोपरी है। उन्होंने कहा सीमा की सुरक्षा सर्वोपरी है। रामनाथ कोविंद के पर्चा भरते वक्त एनडीए में शामिल राजनीतिक दल भी मौजूद थे।

रामनाथ कोविंद के साथ बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी उनका पर्चा दाखिल करवाने गए थे। रामनाथ का पर्चा तीन सेट में दाखिल किया जाएगा। रामनाथ कोविंद के नामांकन पत्र दाखिल करने में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ भी पहुंचे थे। इसके अलावे कोविंद को समर्थन दे रहे राजनीतिक दल के प्रतिनिधि भी मौजूद रहे। लेकिन शिवसेना की तरफ से किसी प्रतिनिधि की मौजूदगी नहीं थी।

नामांकन पत्र दाखिल होने के बाद यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से जब पूछा गया कि वो मीरा कुमार के बारे में क्या सोचते हैं तो उनका कहना था कि यूपीए को अगर सही मायने में दलितों की फिक्र होती और वो मीरा कुमार को राष्ट्रपति बनाना चाहते तो पिछली बार ही बना सकते थे। लेकिन उस वक्त तो उन्होंने ऐसा नहीं किया। इसका मतलब ये है कि कांग्रेस ने केवल विरोध करने के लिए मीरा कुमार को उम्मीदवार बनाया है।

वहीं एलजेपी अध्यक्ष रामविलास पासवान ने कहा कांग्रेस को अगर दलितों की चिंता थी तो उन्होंने मीरा कुमार को पिछली बार राष्ट्रपति उम्मीदवार क्यों नहीं बनाया। पासवान ने कहा कांग्रेस ने मीरा कुमार को बली का बकरा बनाया है। वो दलितों के हित के लिए नहीं बल्कि अपनी सियासत चमकाने के लिए मीरा कुमार के नाम का इस्तेमाल कर रहे हैं।

Loading...

Leave a Reply