नवाज शरीफ ने US में किया कश्मीर-कश्मीर, सवाल पूछने पर मुंह छिपाकर भागे

दिल्ली:  पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने एक बार फिर कश्मीर का पुराना राग अलापा है। शरीफ ने कश्मीर के हल के लिए अमेरिका से मदद मांगी है। शरीफ ने अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी से सोमवार को मुलाकात की। इस मुलाकात में कश्मीर में मानवाधिकार उल्लंघन का मुद्दा नवाज शरीफ ने उठाया।

जॉन केरी से मुलाकात के बाद पाकिस्तान की तरफ से बयान जारी किया गया। जिसमें कहा गया है कि ‘प्रधानमंत्री ने कहा कि कश्मीर में 107 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं। हजारों घायल हैं और सरकार के हर स्तर पर मानवाधिकार का पूरी तरह से हनन किया जा रहा है। पाकिस्तान की तरफ से जारी बयान में ये भी कहा गया है कि उन्हें अभी तक पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन का वो वादा याद है कि अमेरिका, पाकिस्तान और भारत के बीच द्वीपक्षीय विवादों और मुद्दों को हल करने में मदद के लिए अपनी भूमिका निभाएगा। शरीफ ने कहा ‘मैं अमेरिकी प्रशासन और विदेश मंत्री केरी से उम्मीद करता हूं कि वह भारत और पाकिस्तान के बीच द्वीपक्षीय मुद्दों को हल करने के लिए अपने पद का इस्तेमाल करेंगे।

पाक पीएम नवाज शरीफ संयुक्त राष्ट्र महासभा में भी कश्मीर का मुद्दा उठाने की तैयारी में है। लेकिन पाकिस्तानी पीएम नवाज शरीफ से जब उरी में हुए आतंकी हमले पर पत्रकारों ने सवाल पूछे तो वो अपना मुंह छिपाते हुए वहां से भाग निकले। जाहिर है जिस तरह की कायराना हरकत पाकिस्तान की तरफ से की गई है उसके बाद पाकिस्तान के पास कहने के लिए कुछ नहीं बचा है। अपनी बदनीयती पर पाकिस्तान कश्मीर की चादर ढंककर दुनिया की नजर में खुद को सबसे ज्यादा पीड़ित और सबसे ज्यादा दुखी दिखाने की कोशिश में है।

Loading...

Leave a Reply