कांग्रेस में शामिल हुए नवजोत सिंह सिद्धू लेकिन इतनी खामोशी क्यों छाई रही?

नई दिल्ली:  बीजेपी को छोड़ने के बाद बाद सियासत में सिद्धू का नाम एक पहेली की तरह लिया जा रहा था। पहेली इसलिए क्योंकि उनके सियासी भविष्य को लेकर लगाए जा रहे कयास हरबार अफवाह साबित हो रहे थे। आखिरकार उन सभी अटकलों पर आज विराम लग गया। सिद्दू को अब ठिकाना मिल गया। काफी घूमने के बाद सिद्धू कांग्रेस में शामिल हो गए। वो अमृतसर ईस्ट से चुनाव लड़ सकते हैं।

लेकिन जिस तरह से उन्हें कांग्रेस में शामिल किया गया अब वो एक पहेली बन गई है। सिद्धू ने जब कांग्रेस का हाथ थामा तो उनके साथ केवल कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी मौजूद थे। इसके अलावे कांग्रेस का कोई और नेता मौजूद नहीं था। चुकी सिद्धू का सियासी भविष्य पंजाब से जुड़ा है लेकिन इस मौके पर पंजाब का भी कोई नेता मौजूद नहीं था।

कुछ दिन पहले कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा था कि वो दिल्ली तब जाएंगे जब सिद्धू कांग्रेस में शामिल होंगे। लेकिन रविवार को जब सिद्धू कांग्रेस में शामिल हुए तो अमरिंदर सिंह बठिंडा में थे। सिद्धू के कांग्रेस में आगमन पर पार्टी की तरफ से न तो कोई प्रेस कांफ्रेंस की गई और ना ही किसी तरह का बयान दिया गया। इसलिए सवाल ये उठ रहे हैं कि सिद्धू के आगमन पर कांग्रेस इतनी गोपनीयता क्यों बरत रही है।

Loading...