नरसिंह यादव के साथ हुई साजिश ? खाने में किसने मिलाया बर्बादी का ‘फोरन’ ?

पहलवान नरसिंह यादव डोप टेस्ट में पॉजिटिव पाए गए हैं। जिसके बाद उनके रियो ओलंपिक में शामिल होने पर सस्पेंस के बादल घिर आए हैं। लेकिन भारतीय कुश्ती संघ नरसिंह यादव के बचाव में सामने आया है। कुश्ती संघ के अध्यक्ष ब्रजभूषण सिंह ने कहा कि ‘नरसिंह के साथ साजिश हुई है। जांच से पूरे मामले का सच सामने आ जाएगा। कुश्ती संघ ने उम्मीद जताई कि नरसिंह रियो ओलंपिक में जाएगा। लेकिन जानकार बता रहे हैं कि अब इसकी संभावना काफी कम है। कुश्ती संघ ने सवाल उठाया कि एक महीने में तीन बार नरसिंह का डोप टेस्ट क्यों किया गया। नरसिंह ने जानबूझकर नशीली दवाई नहीं ली। ब्रजभूषण सिंह ने कहा कि उनके डोप टेस्ट में वो दवाई पाई गई है जिसे लेने की नरसिंह यादव को जरुरत नहीं थी। ना ही उस दवाई से उनके प्रदर्शन पर कोई असर पड़ेगा। कुश्ती संघ के अध्यक्ष ने कहा कि गुरुवार को पूरा मामला साफ हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि हमारे पास जांच का अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि 5 जून को जब खाना तैयार हो रहा था और उसमें छौंका लगाने की बारी आई तो किसी ने नरसिंह यादव के खाने में प्रतिबंधित दवाई मिला दी। उसके बाद वो वहां से चला गया। उन्होंने कहा कि कुश्ती संघ ये चाहता है कि नरसिंह ही देश का प्रतिनिधित्व करें। नरसिंह को इस मामले में जरुर न्याय मिलेगा। दरअसल नरसिंह यादव कुश्ती के 74 किलोग्राम वर्ग में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले थे। लेकिन अब जबकि उन्हें डोप टेस्ट में पॉजिटिव पाया गया है तो उनके रियो जाने की संभावना काफी कम हो गई है। जिसके बाद अब सवाल ये हो रहे हैं कि अगर नरसिंह नहीं तो 74 किलोग्राम के वर्ग में कौन करेगा भारत का प्रतिनिधित्व ?

Loading...