narender-modi-in-war-room

11 मार्च से पहले ही पीएम मोदी ने विपक्ष पर हासिल कर ली ये बड़ी जीत

11 मार्च से पहले ही पीएम मोदी ने विपक्ष पर हासिल कर ली ये बड़ी जीत




नई दिल्ली: चुनाव आयोग से सराकर के लिए खुशखबरी और विपक्ष के लिए निराश होनेवाली खबर आई है। चुनाव आयोग ने साफ कर दिया है कि चुनाव की वजह से बजट की तारीख नहीं टाली जाएगी। दरअसल 1 फरवरी को आम बजट पेश होना है और 4 जनवरी को पहले चरण की वोटिंग है। जिसमें पंजाब और गोवा में चुनाव होना है।

तमाम विपक्षी दलों के साथ साथ एनडीए की सहयोगी शिवसेना ने भी आम बजट की तारीख आगे बढ़ाने की मांग की थी। अपनी मांग को लेकर विपक्षी दलों के प्रतिनिधि चुनाव आयोग से मिले थे। जिसमें उन्होंने मांग की थी कि चुकी पहले चरण का चुनाव 4 फरवरी को है इसलिए बजट की तारीख को आगे बढ़ाई जाए। इसके पीछे दलील ये दी गई थी कि चुनाव से ठीक पहले आम बजट पेश होने पर इसका असर चुनाव पर पड़ सकता है।

एनडीए की सहयोगी शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा था कि आम बजट चुनाव से ठीक पहले हो रहा है। जिसकी वजह से केंद्र सरकार या बीजेपी मतदाताओं को प्रभावित करने को कोशिश कर सकती है। इसलिए बजट की तारीख आगे बढ़ाई जाए। लेकिन चुनाव आयोग ने साफ कर दिया कि बजट केंद्र का मामला है। लेकिन चुनाव की वजह से बजट की तारीख नहीं टाली जाएगी।

विपक्ष के सवाल पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा था कि विपक्ष को बजट से क्यों डर लग रहा है। उन्होंने कहा 2014 में भी लोकसभा चुनाव से पहले अंतरिम बजट पेश किया गया था। उन्होंने कहा तकरीबन हरबार लोकसभा चुनाव से पहले बजट पेश होता है। जेटली ने कहा बजट एक संवैधानिक प्रक्रिया है। इसे चुनाव से जोड़कर देखना सही नहीं है।

Loading...

Leave a Reply