अमर सिंह के फेवरेट नेता नरेंद्र मोदी हैं, मुलायम को बताया पलटने वाला नेता




नई दिल्ली: भारतीय राजनीति खासकर मुलायम परिवार का जब भी जिक्र होता है तो उसमें अमर सिंह का नाम चाहे जैसे भी हो सामने आ ही जाता है। इसबार भी ऐसा ही हुआ। एक इंटर्व्यू में अमर सिंह से जब उनके पसंदीदा नेता के बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया उनके फेवरेट नेता नरेंद्र मोदी हैं। क्योंकि वो अपनी बातों से पलटते नहीं हैं।

दैनिकभास्कर डॉट कॉम को दिये इंटर्व्यू में अमर सिंह ने कहा कि उनके फेवरेट नेता नरेंद्र मोदी हैं। उन्होंने कहा ऐसा इसलिए क्योंकि वो अपनी बातों पर कायम रहते हैं और अपनी बात से पलटते नहीं है। अमर सिंह ने मुलायम का भी जिक्र किया। अमर सिंह ने कहा कि मुलायम व्यक्तिगत तौर पर बहुत पसंद हैं लेकिन राजनीतिक तौर पर नहीं। वैसे अगर वो बार बार पलटना बंद कर दें तो वो भी छोटे नेता नहीं हैं।

अमर सिंह ने आगे कहा कि मुलायम सिंह जानते हैं कि उन्होंने काफी गलतियां की है। इसके लिए उनको पछतावा भी रहता है। लेकिन मुलायम सिंह की एक ही चिंता रहती है कि कोई उनको एहसान फरामोश नहीं कहे। सीधे तौर पर ना सही लेकिन अमर सिंह ने इशारों में इतना जरुर बता दिया कि जितना समर्पण उन्होंने मुलायम परिवार के लिए दिखाया मुलायम ने उसका शुकराना अदा करने में कंजूसी कर दी। यही वजह है कि आज अमर सिंह को मुलायम सिंह यादव से कई शिकायत है।

पिछले दिनों जब मुलायम परिवार में संघर्ष चल रहा था और सीएम अखिलेश अमर सिंह को लेकर सख्त थे उन्हें बाहर वाला बता रहे थे उस वक्त भी अमर सिंह ने कहा था कि अखिलेश को विदेश पढ़ने के लिए उन्होंने ही भेजा था।

अमर सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि सोनिया जी तो बीमार हैं। हलांकि ये साफ नहीं है कि अमर सिंह ने सोनिया तो शारीरिक तौर पर बीमार बताया या फिर उनके नेतृत्व को बीमार करार दिया। हलांकि अमर सिंह से सवाल राजनीतिक नेता को लेकर किया गया था। इसलिए ये भी हो सकता है कि अमर सिंह ने सोनिया के नेतृत्व को बीमार करार दिया हो।

वैसे अमर सिंह ने मुलायम सिंह को लेकर जो बयान दिया उसके बाद इतना तो साफ हो गया है कि अब अमर सिंह और मुलायम सिंह के बीच रिश्ते पहले जैसे नहीं रहे। एक वक्त वो भी था जब अमर सिंह मुलायम के नाम की कसमें खाया करते थे। उन्हें अपना भाई बताते थे। लेकिन अब भाई वाले उस रिश्ते की डोर भी कमजोर होती दिखाई दे रही है।

Loading...

Leave a Reply