मेरे आदमी चुनाव में नीतीश कुमार को सिखाएंगे सबक- शहाबुद्दीन

पटना: चंद दिनों की रिहाई के बाद आरजेडी के बाहुबली नेता शहाबुद्दीन दोबारा जेल पहुंच गया है। सुप्रीम कोर्ट ने शहाबुद्दीन की जमानत रद्द कर दी है। जमानत रद्द होते ही शहाबुद्दीन सीवान कोर्ट पहुंच गया सरेंडर करने। दलील ये दी कि मैं हमेशा से कानून का सम्मान करते आया हूं। हलांकी सुप्रीम कोर्ट भी स्थानीय प्रशासन को शहाबुद्दीन को गिरफ्तार करने के आदेश दिये थे। मतलब ये कि अगर सरेंडर नहीं भी करते तो गिरफ्तार किये जाते।

सीवान कोर्ट में सरेंडर करने के बाद शहाबुद्दीन ने एकबार फिर नीतीश कुमार के खिलाफ जहर उगला है। शहाबुद्दीन ने कहा ‘मेरे आदमी नीतीश कुमार को अगले चुनाव में सबक सिखाएंगे।‘ दोबारा जेल जाने से पहले बिहार के सीएम नीतिश कुमार को लेकर शहाबुद्दीन ने जिस तरह के तेवर दिखाए हैं ठीक उसी तरह के तेवर शहाबुद्दीन ने तब दिखाए थे जब उसे जमानत मिली थी और वो भागलपुर जेल से रिहा हुआ था।

तब शहाबुद्दीन ने नीतीश कुमार को परिस्थितियों का मुख्यमंत्री बताया था। उसके बाद एक बार फिर शहाबुद्दीन ने नीतीश को अगले चुनाव के लिए चुनौती दी है। शहाबुद्दीन की इस धमकी में दरअसल एक खीज छिपी है। जो पत्रकारों के सवाल पर बाहर आ गई। जमानत पर शहाबुद्दीन की रिहाई पर बिहार सरकार की काफी फजीहत हुई थी। विपक्ष से लेकर जनता तक शहाबुद्दीन की रिहाई को नीतीश सराकर की नाकामी मान रही थी।

हर तरफ से उठते सवाल के बाद बिहार सरकार ने शहाबुद्दीन की रिहाई के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील दाखिल की। हलांकि सुप्रीम कोर्ट से भी बिहार सरकार को कड़ी फटकार मिली। शहाबुद्दीन दूसरी बार जेल जरुर पहुंच गया। लेकिन उसकी अकड़ अब भी कायम है। वहीं आरजेडी इसपर खामोश है। जब शहाबुद्दीन ने नीतीश कुमार को परिस्थितियों का सीएम बताया था तब आरजेडी नेता रघुवंश प्रसाद ने भी शहाबुद्दीन के बयान का समर्थन किया था। लेकिन उसके दोबारा जेल जाने पर आरजेडी नेता खामोश हैं।

Loading...

Leave a Reply