aimplbs-general-secretary-maulana-wali-rehman

तलाक…तलाक…तलाक पर सरकार के खिलाफ ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड

तलाक…तलाक…तलाक पर सरकार के खिलाफ ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड

दिल्ली: ट्रिपल तलाक पर सरकार और मुस्लिम संगठनों में तकरार बढ़ता जा रहा है। ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के महासचिव मौलाना मोहम्मद वली रहमानी ने इस मुद्दे पर मोदी सरकार को घेरा है। उन्होंने कहा कि सरकार यूनिफॉर्म सिविल कोड लाकर देश को तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं। ट्रिपल तलाक का सरकार की तरफ से विरोध किया जाना गलत है।

मौलाना रहमानी ने कहा कि भारत विविधता वाला देश है। यहां विविधता में एकता है। ऐसे में यूनिफॉर्म सिविल कोड यहां मुनासिब नहीं है। यहां अलग-अलग धर्म के लोग रहते हैं। सभी लोग संविधान के मुताबिक रह रहे हैं। लेकिन सरकार इसे तोड़ना चाहाती है। उन्होंने कहा जिस अमेरिका की यहां जय की जाती है वहां भी अलग अलग स्टेट का अपना पर्सनल लॉ है। अलग-अलग पहचान है। हमारी सरकार वैसे तो अमेरिकी की पिछलग्गू है लेकिन इस मुद्दे पर उसको फॉलो नहीं करना चाहती।

मौलाना रहमानी ने कहा देश की विविधता बरकरार रहनी चाहिए। ट्रिपल तलाक पर सरकार का विरोध गलत है। तीन तलाक पर बने आयोग का बहिष्कार किया जाएगा। उन्होंने कहा यूनिफॉर्म सिविल कोड संविधान के खिलाफ है। ऐसा करके सरकार देश के भीतर लड़ाई की तैयारी में है। सरकार पर आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा मोदीजी सरहद नहीं संभाल पा रहे हैं।

सरकार ट्रिपल तलाक के मुद्दे को सामने लाकर ढाई साल की अपनी नाकामी को छुपाने की कोशिश कर रही है। इसके खिलाफ हम अपनी आवाज बुलंद करेंगे। इस तरह का फैसला स्वीकार नहीं किया जाएगा। मोदी सरकार पहले बाहर के दुश्मनों से निपटें। देश के भीतर अपने दुश्मन नहीं बनाएं।

Loading...

Leave a Reply