बह गया मुंबई-गोवा को जोड़नेवाला हाईवे पुल, कई गाड़ियां भी हुई लापता

मुंबई: मुंबई से तकरीबन 175 किलोमीटर दूर महाड में बना मुंबई-गोवा हाईवे पुल भारी बारिश में बह गया। पुल का करीब 80 फीसदी हिस्सा टूटकर सावित्री नदी में गिर गया। जिसकी वजह से पुल के दोनों तरफ मुंबई-गोवा हाइवे पर लंबा ट्रैफिक जाम लग गया। मंगलवार को रात के सवा बारह बजे के करीब पुल पानी के भारी दबाव की भेंट चढ़ गया।

जिस वक्त पुल का हिस्सा टूटा उस वक्त पुल पर दो सरकारी बरें और कई कारें मौजूद थी। पुल के टूटने से दोनों बस और पुल पर मौजूद कारें पानी में बह गई। कहा जा रहा है कि इस हादसे में 22 लोग पानी में बह गए हैं। जिसके बाद रेस्क्यू ऑपरेशन शुरु किया गया। कोस्ट गार्ड के जवान भी लापता लोगों को ढूंढने में जुटी हैं। एनडीआरएफ की 6 टीमें लापता लोगों का पता लगाने में जुटी हैं। नौ सेना के जवानों को भी हेलीकॉप्टर की मदद से पानी में उतारा गया है। इनमें वो गोताखोर भी शामिल हैं जो इस तरह के तेज बहाव वाले पानी में गहराई तक गोता लगा सकते हैं। सावित्री नदी आगे जाकर समुद्र में मिल जाती है। इसलिए लापता लोगों को लेकर बचाव में लगे लोगों की चिंता काफी बढ़ गई है।

माना जा रहा है कि सावित्री नदी में जल स्तर काफी ज्यादा बढ़ गया था। जिसकी वजह पुल का हिस्सा टूटकर पानी के तेज बहाव में बह गया। ये पुल ब्रिटिश शासनकाल के दौरान बनाया गया था। यहां दो समानांतर पुल बने थे। एक नया पुल है और एक का निर्माण ब्रिटिशकाल में हुआ था। बारिश के तेज बहाव में पुराने वाले पुल का हिस्सा बह गया। हादसे के बाद महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फड़नवीस ने ट्वीट कर कहा कि महाबलेश्वलर इलाके में भारी बारिश की वजह से सावित्री नदी में पानी स्तर काफी बढ़ गया और पुल पानी के उस दबाव को सह न सका जिसकी वजह से पुराना पुल टूट गया।
-Mumbai-Goa-highway

Loading...