मुंबई में जिग्नेश मेवाणी और उमर खालिद का कार्यक्रम रद्द, पुणे हिंसा में FIR दर्ज

मुंबई:  महाराष्ट्र में भीमा कोरेगांव में भड़की हिंसा और उसके बाद बढ़े तनाव के बाद मुंबई में दलित नेता जिग्नेश मेवाणी और जेएनयू छात्र संघ के नेता उमर खालिद का कर्यक्रम रद्द कर दिया गया है। मुंबई के विले पार्ले के भाईदास हॉल में इनका कार्यक्रम रखा गया था। इस कार्यक्रम का आयोजन छात्र भारती नाम के छात्र संगठन की तरफ से किया गय था। लेकिन महाराष्ट्र में फैले तनाव के बाद इनके कार्यक्रम  पर रोक लगा दी गई।

जिग्नेश मेवाणी और उमर खालिद के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए काफी छात्र भाईदास हॉल पहुंच भी चुके थे। लेकिन सभा पर रोक के बाद पुलिस ने भाईदास हॉल को खाली करवाया। कार्यक्रम रद्द करने से आयोजकों ने इसपर नाराजगी जताई है। उनका कहना है कि उन्होंने 1 महीने पहले ही इस कार्यक्रम की मंजूरी ले ली थी।

दरअसल पुलिस भीमा कोरेगांव की हिंसा के बाद जिग्नेश और उमर खालिद का कार्यक्रम रद्द करने का फैसला लिया। क्योंकि इस बात की संभावना थी कि अगर दोनों नेताओं ने भड़काई बयान दिया तो इससे हालात दोबारा बिगड़ सकते हैं। जिग्नेश और उमर खालिद पर कोरेगांव हिंसा में भी भड़काऊ बयान देने का आरोप है। इनके खिलाफ FIR भी दर्ज की जा चुकी है।

जिग्नेश मेवाणी गुजरात के दलित नेता हैं। हाल में हुए गुजरात चुनाव में कांग्रेस के समर्थन से जिग्नेश ने जीत हासिल की। पहली बार वो विधायक बने हैं। दलितों के बीच जिग्नेश की अच्छी पकड़ मानी जाती है। इनपर पुणे हिंसा में FIR दर्ज है।

वहीं उमर खालिद जेएनयू छात्र संघ का नेता है। खालिद पर जेएनयू में देश विरोधी नारा लगाने का आरोप है। खालिद वामपंथी विचारधारा से प्रभावित हैं। सरकार की नीतियों के खिलाफ कई बार उमर खालिद बयान दे चुके हैं। पुणे हिंसा में इनके खिलाफ भी शिकायत दर्ज है।

Loading...