mulayam-singh-yadav-press-confrence

पार्टी एक है, परिवार एक है तो प्रेस कांफ्रेंस में अखिलेश क्यों नहीं आए?

पार्टी एक है, परिवार एक है तो प्रेस कांफ्रेंस में अखिलेश क्यों नहीं आए?

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव मंगलवार को प्रेस कांफ्रेंस करने आए। उनके साथ शिवपाल यादव भी थे। पहले से खबर थी कि प्रेस कांफ्रेंस में सीएम अखिलेश यादव भी आएंगे। लेकिन प्रेस कांफ्रेंस में सीएम अखिलेश मौजूद नहीं थे। अखिलेश की गैरमौजूदगी में हुई प्रेस कांफ्रेंस में मुलायम ने कहा पार्टी एक है, परिवार एक है। लेकिन लोग सवाल पूछ रहे हैं अगर सबकुछ एक है तो अखिलेश कहां रह गए?

प्रेस कांफ्रेंस में मुलायम ने पर्टी एक और परिवार एक कहकर ये कोशिश की कि जिस सुलह की कोशिश की जा रहा थी वो हो चुकी है। लेकिन राजनीति को पढ़नेवालों ने ये पढ़ और समझ लिया कि दावा भले ही सबके एक होने के किये जा रहे हैं लेकिन बात जहां से शुरु हुई थी वहीं आकर रुक गई है। या यूं भी कह सकते हैं कि बात जहां से शुरु हुई थी वहां से आगे बढ़ी ही नहीं।

मुलायम ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा जिन चार मंत्रियों को बर्खास्त किया गया है उनकी वापसी का फैसला सीएम करेगे। अखिलेश के सीएम रहने पर किसी को कोई आपत्ति नहीं है। लेकिन 2017 के सीएम कैंडिडेट का एलान अभी नहीं होगा। चुनाव में बहुमत आने के बाद सभी विधायक मिलकर सीएम का चुनाव करेंगे। जबकि कुछ दिन पहले यूपी बीजेपी अध्यक्ष, मुलायम के भाई और अखिलेश के चाचा शिवपाल यादव ने कहा था कि मैं स्टांप पेपर पर लिखकर दे सकता हूं कि सीएम अखिलेश ही होंगे। यहां दो भाइयों यानि मुलायम और शिवपाल के बयान में विरोधाभास है।

अमर सिंह पर उठ रहे सवाल और लग रहे आरोप पर मुलायम ने एक तरह से फुलस्टॉप लगा दिया। उन्होंने कहा कि अमर सिंह को पार्टी से नहीं निकाला जाएगा और अमर सिंह को बीच में लाने की जरुरत नहीं है। पार्टी से 6 साल के लिए बर्खास्त रामगोपाल यादव पर मुलायम ने कहा उनकी बातों को कोई महत्व नहीं देता।

लेकिन मुलायम के इस प्रेस कांफ्रेंस के बाद भी ऐसा नहीं है कि विवाद खत्म हो गया। लखनऊ में समाजवादी पार्टी के दफ्तर के बाहर अखिलेश समर्थक प्रदर्शन कर रहे थे। तो अखिलेश के घर के बाहर शिवपाल समर्थक प्रदर्शन कर रहे थे। कार्यकर्ताओं का ये प्रदर्शन ये बता रहा है कि समाजवादी पार्टी की मैराथन बैठक के बाद जो सुलह का रास्ता निकाला गया और उसके जो नतीजे सामने आए उससे समर्थकों की नाराजगी दूर नहीं हुई है।

Loading...

Leave a Reply