मोटर व्हीकल संशोधन बिल लोकसभा में पेश, यातायात नियम तोड़ने पर अब लगेगा 10 गुना ज्यादा जुर्माना

नई दिल्ली:  मंगलवार को केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने लोकसभा में मोटर व्हीकल संशोधन बिल लोकसभा में पेश किया। जिसमें सड़क यातायात नियमों को और कड़ा किया गया है। संशोधित बिल में सड़क सुरक्षा के क्षेत्र में काफी सख्त प्रावधान किये गए हैं। नाबिलिग ड्राइविंग, बिना लाइसेंस ड्राइविंग, रैश ड्राइविंग, शराब पीकर गाड़ी चलाना, ओवर स्पीडिंग और ओवर लोडिंग को लेकर कड़ा जुर्माना लगाने का प्रावधान शामिल है।

संशोधन बिल पेश करते हुए गडकरी ने कहा कि इसपर केंद्र को भी कानून बनाने का अधिकार है और राज्य भी इसपर नियम बना सकते हैं। जो राज्य सरकार इसे लागू करना चाहती है वो लागू करे। उन्होंने कहा कि इसे लागू करने के लिए किसी तरह की बाध्यता राज्य सरकार पर नहीं होगी। हलांकि उन्होंने ये भी कहा कि 18 राज्यों से बातचीत कर इस बिल को तैयार किया गया है। स्टैंडिंग कमेटी ने भी इस बिल पर विचार किया है।

नए बिल के मुताबिक शराब पीकर गाड़ी चलाने पर अब 10 हजार रुपये का जुर्माना लगेगा। रैश ड्राइविंग करने पर 5000 रुपये का जुर्माना लगेगा। पहले ये रकम 1000 रुपये था। ओवरलोडिंग पर 20,000 रुपये जुर्माना लगेगा। सीटबेल्ट न बांधने पर 1000 रुपये जुर्माना और तीन महीने तक लाइसेंस निलंबित करना शामिल है। अभी 100 रुपये लगता था।

यातायात नियमों का उल्लंघन करने पर न्यूनतम जुर्माना 100 रुपये की जगह 500 रुपये लगेगा। अधिकारियों के आदेश का पालन नहीं करने पर अब 500 रुपये की जगह पर 2000 रुपये जुर्माना लगेगा। वाहन का गलत इस्तेमाल करने पर 5000 रुपये का जुर्माना लगेगा। बिना लाइसेंस वाहन चलाने पर भी जुर्माना देना होगा। अयोग्य करार देने के बाद भी गाड़ी चलाने पर 10,000 रुपये का जुर्माना लगेगा।

वहीं ओला, उबर जैसे एग्रीगेटर्स द्वारा ड्राइविंग लाइसेंसों के नियमों का उल्लंघन करने पर 1 लाख तक का जुर्माना लगाया जा सकता है।

(Visited 60 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *